Subscribe for notification

बौखलाए ट्रम्प समर्थकों के हिंसक हुए तेवर, आज देशव्यापी ‘स्टॉप द स्टील’ रैली का आयोजन

5 अक्तूबर गुरुवार की शाम राष्ट्रपति व रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा एक लाइव टेलीकास्ट संबोधन में डेमोक्रेटिक पार्टी पर अवैध मतों का इस्तेमाल करके चुनाव चुराने (‘Steal Us Election’) जैसी फेक बातें साझा करने के बाद फेसबुक पर गुरुवार को ही “Stop the Steal” ग्रुप सक्रिय होकर अपने सदस्यों से हथियार तैयार रखने की अपील करने लगा। और देखते ही देखते बहुत तेजी से ये मेसेज फेसबुक पर वायरल हो गया। मेसेज में कहा गया, “अपने हथियार तैयार रखिए, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के व्हाइटहाउस में बने रहने का मौका छिन सकता है”- (“ready their weapons should President Donald Trump lose his bid to remain in the White House”)।

रॉयटर और कुछ अन्य समाचार संगठनों द्वारा ‘स्टॉप द स्टील’ ग्रुप के हिंसा फैलाने के प्रयासों का कवरेज करने के बाद फेसबुक ने ग्रुप के प्रयासों को ‘चुनाव प्रक्रिया को अमान्य ठहराने’ और “कुछ सदस्यों द्वारा हिंसा फैलाने की चिंताजनक अपील” उद्धृत करते हुए बंद कर दिया गया। इस बाबत शुक्रवार को फेसबुक के प्रवक्ता क्रिस्टन मोरिया ने इस बात की पुष्टि की कि उसने देशव्यापी प्रोटेस्ट की अपील करने वाली ‘स्टॉप द स्टील’ पेज को साइट से हटा दिया है।

बता दें कि गुरुवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चुनाव बाद पहली बार लोगों को सार्वजनिक रूप से संबोधित कर रहे थे। लेकिन उनके लाइव कवरेज का प्रसारण उस समय NBC, ABC, CBS जैसे कई टीवी चैनलों ने रोक दिया जब डोनाल्ड ट्रंप अप्रमाणित, तथ्यहीन झूठे और फेक सूचनाएं देने लगे। अपने 17 मिनट के संबोधन में डोनाल्ड ट्रंप ने भड़काऊ और उकसाने वाले निराधार दावे किए। उन्होंने कहा, “डेमोक्रेट ‘अवैध मतों’ का इस्तेमाल करके हमसे चुनाव चुरा रहे हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने आगे कहा कि यदि लीगल मतों की गिनती होगी तो मैं जीत जाऊंगा।

अमेरिकी चुनाव के दौरान इस तरह की बयानबाजी होना कोई असमान्य बता नहीं थी। बल्कि दुनिया के सबसे बड़े सोशल नेटवर्क फेसबुक पर ये एक मुख्य बूस्टर की तरह है। लेकिन फेसबुक हमेशा सभी हिंसक और नफ़रती ग्रुप के साथ एक जैसा व्यवहार नहीं करता।

रॉयटर्स के अनुरोध पर एक डिजिटल इंटेलिजेंस ‘काउंटर एक्शन’ द्वारा यूएस-आधारित फ़ेसबुक ग्रुप्स का सर्वेक्षण सितंबर और अक्तूबर के दरम्यान आयोजित किया गया था। इस सर्वे में राजनीतिक रुझान के लाखों सदस्यों वाले हजारों पब्लिक ग्रुप को हिंसक ओवर टोन वाली बयान बाजी में लिप्त पाया गया।

आज देशव्यापी ‘स्टॉप द स्टील’ रैली

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति चुनाव हारने की स्थिति को देखते हुए इसकी प्रतिक्रिया में देश आज देश भर में ‘स्टॉप द स्टील’ रैली आयोजित की जा रही है। इस कड़ी में ग्रेटर रिचमंड में इस सप्ताह के आखिर में दो रैली ट्रंप समर्थकों द्वारा आयोजित की जा रही है।

कल कैपिटल हिल में इस तरह की एक रैली में जो बाइडेन और ट्रंप समर्थक आपस में भिड़ गए थे। वॉशिंगटन, टीसीए सेंटर, विस्कोंसिन, अटलांटा, नेवादा, पेनसिल्वेनिया, जॉर्जिया समेत सभी राज्यों की राजधानी में आज ‘स्टॉप द स्टील’ रैली आयोजित की गई है।

शुक्रवार को रिपब्लिकन जुबेरनेटोरियल उम्मीदवार सेन अमांडा चेस (आर चेस्टरफील्ड) ने फेसबुक पर समर्थकों को रिचमंड में सप्ताहांत ‘स्टॉप द स्टील’ रैली के लिए बाहर निकलने की अपील की।

वहीं फेसबुक के प्रवक्ता क्रिस्टन मोरिया (Kristen Morea) का कहना है कि “तनाव बढ़ाने वाले इस समायवधि में हम उन असाधारण उपायों के अनुरूप कदम उठा रहे हैं, हमने फेसबुक से ‘स्टॉप द स्टील’ ग्रुप को हटा दिया है, जो कि वास्तविक दुनिया की प्रभावित करने वाले घटनाओं को पैदा कर रहा था। इस ग्रुप को चुनाव प्रक्रिया को अमान्य ठहराने के लिए ऑर्गेनाइज किया गया था। हमने इस ग्रुप के कुछ सदस्यों की हिंसा के लिए उकसाने वाली अपील देखा।”

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

Donate to Janchowk!
Independent journalism that speaks truth to power and is free of corporate and political control is possible only when people contribute towards the same. Please consider donating in support of this endeavour to fight misinformation and disinformation.

Donate Now

To make an instant donation, click on the "Donate Now" button above. For information regarding donation via Bank Transfer/Cheque/DD, click here.

This post was last modified on November 7, 2020 11:29 am

Share