Saturday, December 4, 2021

Add News

भारत-पाक की क्रिकेट पिच पर तैयार होता है मुनाफे का बाजार!

ज़रूर पढ़े

आखिरकार वो दिन आया जिसका क्रिकेटप्रेमियों को बेसब्री से इंतजार था, 24 अक्टूबर। भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबला हुआ और पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से करारी शिकस्त दी। आप तक पहुंचाया गया कि भारतीय फैंस दुखी हुए, पाकिस्तानी समर्थक खुश और कहानी खत्म। लेकिन बात इतनी भी मुख्तसर सी भी नहीं है। भारत और पाकिस्तान के बीच मैच की कहानी तो बहुत पहले ही तैयार हो जाती है। यहां मैं फिक्सिंग की नहीं बल्कि अर्निंग की बात कर रहा हूँ। बाजार को आने वाले मोटे मुनाफे की।

इसे विस्तार से बताऊं उससे पहले एक जानकारी लीजिए। टीवी स्पोर्ट्स चैनल स्टार स्पोर्ट्स ने साल 2015 से 2023 तक होने वाले सभी आईसीसी इवेंट्स के राइट्स 198 करोड़ डॉलर (करीब 14.8 हजार करोड़ रुपए) में खरीदे थे। यानी भारी पैसा निवेश किया था। अब जाहिर सी बात है जितना भारी पैसा लगाया गया, उससे भारी मुनाफा कमाने का प्लान जरूर होगा। ये मुनाफा दिलाता है भारत-पाकिस्तान का मैच। ऐसा मैं इसलिए दावे के साथ कह रहा हूँ क्योंकि ब्रॉडकास्टर्स की डिमांड होती है कि हर टूर्नामेंट के शेड्यूल में ICC कम से कम 1 भारत-पाकिस्तान मैच जरूर रखे और ऐसा होता भी है। बात करें साल 2012 से तो अभी तक तकरीबन हर आईसीसी के टूर्नामेंट में भारत-पाकिस्तान के मैच को रखा गया है, ताकि बड़ा बाजार तैयार किया जा सके।

पानी की तरह बहाया जाता है पैसा

भारत और पाकिस्तान मैच के बीच में अपना ऐड देना उतना ही कठिन है जितना दर्शकों को ये समझाना कि ये सिर्फ क्रिकेट मैच है। 24 तारीख को होने वाले मैच से पहले मैं इस मैच में ऐड पर होने वाले खर्च के बारे में पढ़ रहा था, जिसे देखकर हम मिडिल क्लास जैसे लोगों को ये बस एक सपने जैसा लगा। आंकड़े देख रहा था तो पता चला कि 2019 में हुए भारत-पाकिस्तान मैच से स्टार ने 100 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई की थी। इस मैच में 10 सेकेंड के विज्ञापन स्लॉट 25 लाख रुपए में बेचे गए थे। इतना ही नहीं आखिरी समय में ये इन स्लॉट के दाम और बढ़ाए गए थे। ये भी बता दें कि आईसीसी विश्व कप 2019 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए मुकाबले को रिकॉर्ड 27.3 करोड़ दर्शकों ने टीवी पर देखा। इनमें से 23.3 करोड़ दर्शक भारत के थे। जबकि पांच करोड़ लोगों ने डिजिटल रूप में मैच देखा। जाहिर सी बात है ये दर्शाता है कि इस मैच के लिए भारत में कितना बड़ा बाजार बनाया जा सकता है और बनाया भी गया है।

इसके बाद जब मौजूदा आंकड़ों पर नजर गई तो पता लगा कि अपने ब्रांड का नाम दर्शकों तक पहुंचाने के लिए कंपनियां प्रति सेकंड के लिए तीन से साढ़े तीन लाख रुपये तक चुकाने को तैयार हैं। जो कि पिछले वर्षों से तीन से चार गुना ज्यादा है। इसके अलावा 10 सेकंड्स के लिए करीब 30 से 35 लाख रुपये दिए जा रहे हैं।

कीमत इतनी हाई कैसे हुई?

साल दर साल भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले में विज्ञापन के रेट बढ़ते ही गए हैं। ऐड देने वाली कंपनियों में होड़ रहती है। सिर्फ पैसा खर्च करना ही नहीं बल्कि इस बात पर भी नज़र रहती है कि उन्हें स्लॉट मिल जाए। अब जानते हैं कि आखिर ये बाजार इतना बड़ा बना कैसे?

क्रिकेट मैच को जंग की तरह पेश करना

साल 2015 में वनडे विश्व कप के दौरान स्टार की ओर से एक ऐड ने लोगों का ध्यान खींचा। वो था ‘मौका-मौका’ नाम का ऐड। ये ऐड चल पड़ा उसके बाद तो फिर भारत पाकिस्तान के हर मैच से पहले स्टार नेटवर्क इसे खूब भुनाता है। इस बार भी ये ऐड जोर शोर से चलाया गया, जिससे माहौल बन सके।

राजनीतिक कड़वाहट और कम मैच होना

भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के बीच काफी राजनीतिक कड़वाहट है। जिसकी वजह से दोनों देशों के बीच कोई सीरीज़ नहीं खेली जाती। ऐसे में दर्शकों को जब आईसीसी टूर्नामेंट में कई साल बाद ये टीमें आपस में टकराती हैं तो लोगों का ध्यान इधर आता ही आता है। कोई भी इस मैच को छोड़ना नहीं चाहता। हालांकि मैच के बाद कप्तान कोहली और मेंटोर धोनी के साथ पाकिस्तानी खिलाड़ियों की फोटो सब कुछ सामान्य दिखा रही थी, लेकिन दर्शकों को लग रहा था कि जंग जीत या हार गए।

चैनल के अलावा हर एक को फायदा

इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार पीवीआर प्रमुख गौतम दत्ता के मुताबिक, रविवार को हुए मैच में 35 शहरों के 75 सिनेमा स्क्रीन को स्टेडियम की तरह बनाने की कोशिश की गई । जिसमें चीयर गर्ल्स भी शामिल हैं। इसका फायदा ये मिला कि पहले से ही सारे टिकट बुक हो गए थे। वहीं सिनेमा ऐनेक्स लेज़र ने भी 25 शहरों में 50 स्क्रीनिंग की।

सिनेमा ही नहीं कई फाइव स्टार होटल्स में भी मैच दिखाए गए। ट्रैवेल कंपनी booking.com ने तो बाकायदा मुंबई के हयात होटल और रेजिडेंट में टी20 पवेलियन बनाया था। इसका किराया 6,666 रुपये भी पहले ही बुक हो चुका था।

बात करें एयर लाइंस की तो दुबई के लिए उड़ानों में भी यात्रियों की संख्या में काफी इजाफा देखा गया। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक क्लब वन एयर के सीईओ और कतर एयरवेज के पूर्व इंडियन हेड राजन मेहरा ने बताया कि, ” आईपीएल के विपरीत भारत-पाक मैच में गजब का रेस्पॉन्स देखने को मिला। हमने पिछले हफ्ते ही 30-35 पैसेंजर्स से भरी 6-7 चार्टेड को उड़ान भरवाई। जिसमें ज़्यादातर बिजनेस वर्ग के और सेलिब्रिटीज थे जिन्होंने स्टेडियम में ‘वीवीआइपीज बॉक्स’ बुक करा रखा था।

स्टेडियम के टिकट की मारामारी

टिकट की बिक्री शुरू होते ही आधे घण्टे में ही मैच की सारी टिकटें बिक गईं। वेटिंग लिस्ट भी 13 हजार के पार पहुंच गई। टिकटों की कीमत की बात करें तो 12,500 रुपये से शुरुआत थी। इसके अलावा 31,200 रुपए और 54,100 रुपए में फैंस प्रीमियम और प्लेटिनम स्टैंड में जाकर मैच देख सकते थे। कई वेबसाइट पर 4 से 5 गुना दाम पर टिकटों को बेचा जा रहा था। सबसे महंगे टिकट करीब 2 लाख रुपए के थे, जो सामान्य से लगभग 333 गुना महंगे थे।

यानी भले ही भारतीय टीम हार गई हो और आप निराश हों, लेकिन कई कंपनियां मैच से पहले ही जीत चुकी होती हैं। ये जीत होती है बाजार की।

दर्शक टीवी पर मौका-मौका और बाप-बेटे वाला ऐड देखकर एक लड़ाके की तरह मैच देखने बैठते हैं, फिर वो चाहे घर हो, ग्राउंड हो या कहीं भी। जबकि टीवी के पीछे का खेल अलग होता है उनका मकसद सिर्फ इसे भुनाना होता है और आंकड़े बताते हैं उसमें वो पूरी तरह सफल भी हुए हैं।

फिलहाल मैच तो खत्म हो गया अब आपके ऊपर है इतना पैसा खर्च करने के बाद टीम को गाली देते रहेंगे या इसके पीछे की स्ट्रेटजी को समझेंगे कि मैच को महज मैच की तरह लिया जाए।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

भाजपा की बी टीम को मज़बूत करता संघ!

पिछले कुछ दिनों से सत्तारूढ़ भाजपा की रीति नीति में थोड़ी छद्म तब्दीली का जो आभास लोगों को कराया...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -