किसान मोर्चे ने घोषित की कार्यक्रमों की नई श्रृंखला, 23 से लेकर 27 फरवरी तक होंगे देश भर में आयोजन

Estimated read time 1 min read

नई दिल्ली। आज संयुक्त किसान मोर्चा के एक महत्वपूर्ण नेता और कीरती किसान यूनियन पंजाब के प्रधान दातार सिंह का निधन हो गया है।  मोर्चे ने उनको श्रद्धांजलि अर्पित की है। मोर्चे का कहना है कि दातार सिंह का किसान हितों में, विशेषकर इस आंदोलन में, योगदान अतुलनीय है।

इस बीच, आज संयुक्त किसान मोर्चा की जनरल बॉडी की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता इंदरजीत सिंह ने की। यह उल्लेखनीय है कि मोर्चे के तीसरे पड़ाव सम्बधी बड़ी घोषणाएं 28 तारीख को सयुंक्त किसान मोर्चे की बैठक के बाद की जाएगी। मोर्चे ने आज की बैठक में कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। उनमें सर्वप्रमुख हैं:

1. 23 फरवरी को पगड़ी संभाल दिवस मनाया जाएगा। यह दिन अजीत सिंह एवं स्वामी सहजानंद सरस्वती की याद में मनाया जाएगा। इस दिन किसान अपने आत्मसम्मान का इज़हार करते हुए अपनी क्षेत्रीय पगड़ी पहनेंगे।

2. 24 फरवरी को ‘दमन विरोधी दिवस’ की घोषणा की गयी है जिसमें किसान आंदोलन पर हो रहे चौतरफ़ा दमन का विरोध किया जाएगा। इस दिन सभी तहसील व जिला मुख्यालयों पर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिए जाएंगे।

3. 26 फरवरी को दिल्ली मोर्चे के तीन महीने पूरे होने पर युवाओं के योगदान को सम्मानपूर्वक ‘युवा किसान दिवस’ मनाया जाएगा। इस दिन मोर्चे के सभी मंच युवाओं द्वारा संचालित किए जाएंगे। अलग-अलग राज्यों के युवाओं से दिल्ली बोर्डर्स पहुंचने की अपील की गयी है।

4. गुरु रविदास जयंती और शहीद चंद्रशेखर आज़ाद के शहादत दिवस 27 फरवरी को “मजदूर किसान एकता दिवस” मनाया जाएगा। मोर्चे ने सभी देशवासियों से अपील की है कि वे दिल्ली धरनों पर आकर मोर्चे को मजबूत करें।

एक अन्य सूचना के मुताबिक संयुक्त किसान मोर्चा यवतमाल महाराष्ट्र में SKM नेताओं के साथ स्थानीय नेताओं को पुलिस हिरासत में लिया गया व बाद में जमानत पर छोड़ा गया। सरकार द्वारा किसान आंदोलन के नेताओं को परेशान करने के इन प्रयासों की हम कड़ी निंदा करते हैं।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments