Tuesday, December 7, 2021

Add News

‘सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या के मामले से किसान मोर्चे का कोई रिश्ता नहीं’

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

आज 15 अक्टूबर, 2021 सुबह सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या के संबंध में संयुक्त किसान मोर्चा का बयान जारी करके घटना की निंदा और विरोध किया है। बयान में संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि आज सुबह सिंघु मोर्चा पर पंजाब के एक व्यक्ति (लखबीर सिंह, पुत्र दर्शन सिंह, गांव चीमा कला, थाना सराय अमानत खान, जिला तरनतारन) का अंग भंग कर उसकी हत्या कर दी गई। इस घटना के लिए घटनास्थल के एक निहंग समूह/ग्रुप ने जिम्मेवारी ले ली है, और यह कहा है कि ऐसा उस व्यक्ति द्वारा सरबलोह ग्रंथ की बेअदबी करने की कोशिश के कारण किया गया। ख़बर है कि यह मृतक उसी समूह/ग्रुप के साथ पिछले कुछ समय से था।

बयान में आगे संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि “संयुक्त किसान मोर्चा इस नृशंस हत्या की निंदा करते हुए यह स्पष्ट कर देना चाहता है कि इस घटना के दोनों पक्षों, इस निहंग समूह/ग्रुप या मृतक व्यक्ति, का संयुक्त किसान मोर्चा से कोई संबंध नहीं है। हम किसी भी धार्मिक ग्रंथ या प्रतीक की बेअदबी के ख़िलाफ़ हैं, लेकिन इस आधार पर किसी भी व्यक्ति या समूह को क़ानून अपने हाथ में लेने की इज़ाज़त नहीं है”।

संयुक्त किसान मोर्चा ने आगे कहा है कि “हम यह मांग करते हैं कि इस हत्या और बेअदबी के षड्यंत्र के आरोप की जांच कर दोषियों को क़ानून के मुताबिक सजा दी जाए। संयुक्त किसान मोर्चा किसी भी क़ानून सम्मत कार्यवाही में पुलिस और प्रशासन का सहयोग करेगा। लोकतांत्रिक और शांतिमय तरीके से चला यह आंदोलन किसी भी हिंसा का विरोध करता है”।

बयान जारी करने वालों में बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हन्नान मोल्ला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उगराहां, शिवकुमार शर्मा (कक्का जी), युद्धवीर सिंह, योगेंद्र यादव का नाम शामिल है।

क्या है पूरी घटना

दरअसल आज सुबह सिंघु बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन स्थल के पास से एक व्यक्ति का हाथ कटा शव मिला है। प्रथम दृष्ट्या उक्त व्यक्ति की हत्या के बाद तलवार जैसे धारदार हथियार से उसका बायां हाथ काट दिया। युवक के गर्दन सहित शरीर के कई जगहों पर भी हमला किया गया। हत्या के बाद उसके शव को संयुक्त किसान मोर्चा के मुख्य टेंट के पास लगे एक बैरिकेडिंग से लटका दिया गया। शव मिलने की जानकारी मिलते ही कुंडली थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और बैरिकेडिंग से शव को उतारा। इसके बाद पुलिस शव को पास के सिविल हॉस्पिटल लेकर गई।

हरियाणा पुलिस के मुताबिक़ मृतक की पहचान तरनतारन जिले के चीमा खुर्द गांव के 35/36 वर्षीय मजदूर लखबीर सिंह के रूप में हुई है। वह अनुसूचित जाति से था।

कहा जा रहा है कि मृतक शख्स ने सिखों के पवित्र धर्म ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की। जिसके बाद निहंग सिखों ने बेरहमी से उसकी हत्या कर दी। आंदोलन स्थल पर एक लटका हुए शव मिलने की जानकारी मिलते ही कुंडली थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और लाश को बैरिकेडिंग से उतारा और शव के परीक्षण के लिए पास के सिविल अस्पताल ले गई।

सोनीपत के डीएसपी हंसराज ने मीडिया से बातचीत करते हुये बताया कि आज 5 बजे कुंडली थाने को सूचना मिली कि किसानों के प्रदर्शन स्थल पर बने स्टेज के पास एक व्यक्ति का हाथ पैर काटकर लटकाया हुआ है। जिसके बाद पुलिस मौके पर गई और पाया कि हाथ पांव काट रखे एक शख्स की डेड बॉडी बैरीकेडिंग से लटकी हुई है। पुलिस ने इस दौरान वहां मौजूद कुछ लोगों से पूछताछ की। लेकिन कुछ भी खुलासा नहीं हो पाया। पुलिस ने अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज़ किया है और जांच जारी है।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

संविधान की प्रस्तावना में समाजवादी और पंथनिरपेक्ष शब्द जोड़ने पर जस्टिस पंकज मित्तल को आपत्ति

पता नहीं संविधान को सर्वोपरि मानने वाले भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना ने यह नोटिस किया या नहीं...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -