Friday, March 1, 2024

पेपर लीक होने के बाद यूपी टीईटी परीक्षा रद्द, विपक्षी दलों ने योगी की नकलची व्यवस्था को आड़े हाथों लिया

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) -2021 का परीक्षा पेपर लीक होने के बाद कैंसिल कर दिया गया है। अब यूपी टीईटी की परीक्षा एक महीने बाद फिर से करायी जायेगी। 

बता दें कि आज रविवार को प्रदेश सरकार की यूपीटेट-2021 की परीक्षा का आयोजन दो पाली में होना था। प्रदेश में 2554 परीक्षा केंद्र बनाये गये थे और कुल 12, 91, 628 परीक्षार्थी परीक्षा में बैठने वाले थे। 

विपक्षी दलों की प्रतिक्रिया 

यूपी टीईटी-21 का पेपर लीक होने के बाद विपक्षी दलों ने योगी आदित्यनाथ की सरकार को आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि -“भर्तियों में भ्रष्टाचार, पेपर आउट ही भाजपा सरकार की पहचान बन चुका है। आज यूपी टेट का पेपर आउट होने की वजह से लाखों युवाओं की मेहनत पर पानी फिर गया। हर बार पेपर आउट होने पर आदित्यनाथ जी की सरकार ने भ्रष्टाचार में शामिल बड़ी मछलियों को बचाया है, इसलिए भ्रष्टाचार चरम पर है। “

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि – “UPTET 2021 की परीक्षा का पेपर लीक होने की वजह से रद्द होना बीसों लाख बेरोज़गार अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। भाजपा सरकार में पेपर लीक होना, परीक्षा व परिणाम रद्द होना आम बात है। उप्र शैक्षिक भ्रष्टाचार के चरम पर है। 

बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि – “जिस प्रकार सपा सरकार में नकल आम बात होती थी, उसी प्रकार भाजपा सरकार में भी पेपर लीक होने से यूपी में शिक्षकों की भर्ती के लिए आज की उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) का रद्द हो जाना अति-गंभीर मामला। करीब 21 लाख परीक्षार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ उचित नहीं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि – “यूपी सरकार इस ताजा घटना को पूरी गंभीरता से लेकर इसकी अति-शीघ्र उच्च-स्तरीय जाँच कराए एवं दोषियों को सख्त कानूनी सजा सुनिश्चित करे तथा आगे यथाशीघ्र इस परीक्षा को सुचारू रूप से कराने की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित करे, बीएसपी की यही मांग है ।” 

आम आदमी पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के नौजवानों देखो आपके भविष्य के साथ कैसे खिलवाड़ किया जा रहा है।

आदित्यनाथ जी जिन्ना का पेपर ‘हल’ करने में व्यस्त हैं,इस बीच लाखों छात्रों के रोज़गार से जुड़ी TET की परीक्षा का पेपर लीक हो गया। 

राष्ट्रीय लोक दल अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा है कि – “आज होने वाली UP TET की परीक्षा रद्द कर दी गई है। मेहनत करने वाले लाखों परीक्षार्थियों के साथ ये भद्दा मज़ाक़ है। उत्तर प्रदेश के युवा इस पेपर लीक सरकार से तंग आ चुके हैं!!

इलाहाबाद, प्रयागराज से पकड़े गये साल्वर 

पेपर इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के कारण परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है। पेपर वायरल करने के मामले में एसटीएफ ने शामली से तीन लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि प्रयागराज से 13 साल्वर को पकड़ा गया है। इनमें आठ बिहार से हैं।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि पेपर इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के मामले में प्रदेश के अलग-अलग इलाकों से हमने अब तक 23 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से परीक्षा पत्र की फोटोकॉपी मिली है। उन्होंने बताया कि परीक्षा एक महीने के अंदर फिर से कराई जाएगी।

पेपर वायरल होने की सूचना मिलने के बाद उत्तर प्रदेश एसटीएफ टीमों ने प्रदेश में ताबड़तोड़ छापा मारा। जिसके बाद लखनऊ से चार, शामली से तीन, गोरखपुर तथा वाराणसी से दो-दो और कौशाम्बी से एक को गिरफ्तार किया गया है। इनके साथ ही प्रयागराज से 13 लोगों को पकड़ा गया है। प्रयागराज से पकड़े गए लोग अपने को सॉल्वर बता रहे हैं।

पकड़े गये साल्वरों के नाम और विवरण इस प्रकार हैं – 

राजेंद्र पटेल निवासी जयरामपुर, दुर्गागंज, थाना रानीगंज, जनपद प्रतापगढ़। (मुख्य सरगना), सन्नी सिंह पुत्र महेश सिंह, निवासी ग्राम खराटी, बदगाहा, जनपद गया, बिहार, टिन्कू कुमार पुत्र शिवनाथ प्रसाद, निवासी ग्राम रेकुना फारम बोधगया, बिहार, नीरज शुक्ला पुत्र नागेन्द्र प्रसाद शुक्ला निवासी ग्राम चौबे पट्टी थाना रानीगंज जनपद प्रतापगढ़, शीतल कुमार पुत्र सुनील कुमार वर्मा निवासी निवासी खरंटी थाना बोधगया, गया, बिहार, धनंजय कुमार पुत्र सुदामा प्रसाद निवासी धर्मदेव नगर, मानपुर थाना मुफस्सिल, गया, बिहार, कुनैन राजा पुत्र सरफे मोहम्मद निवासी टेकुना थाना बोधगया, गया, बिहार, शिवदयाल पुत्र बृज किशोर पाण्डेय निवासी धुरिया थाना बारून जनपद औरंगाबाद, बिहार, अनुराग पुत्र सुगेनी प्रसाद, निवासी नई बस्ती मकान नं0-14, पो0 दल्ला, थाना चोपन, जनपद सोनभद्र (साल्वर), अभिषेक सिंह पुत्र अश्वनी सिंह, निवासी प्यारे लाल कालोनी बलदाऊगंज, थाना कर्वी, जनपद चित्रकूट (अभ्यर्थी), सत्य प्रकाश सिंह पुत्र रोहनी प्रसाद सिंह, निवासी वार्ड नं0-9 पटेल नगर, थाना शंकरगढ़, जनपद प्रयागराज (सहायक अध्यापक प्रा0वि0 करियाखुर्द शंकरगढ, प्रयागराज/सरगना इनके वाट्सएप पर साल्व पेपर पाया गया), चर्तुभुज सिंह पुत्र त्रिलोकी नाथ सिंह, निवासी सेमरी, बाघराय, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (सरगना), संजय सिंह पुत्र देवी प्रसाद, निवासी सिरावल, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर), अजय कुमार पुत्र धर्मराज सिंह, निवासी ग्राम पचवह, खजुरी, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर), ब्रम्हा शंकर सिंह पुत्र मारकण्डेय प्रसाद सिंह, निवासी ग्राम पियरी पो0महुली, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर), सुनील कुमार सिंह पुत्र जगपति लाल सिंह, निवासी हरदिहा, थाना खीरी, जनपद प्रयागराज (सहयोगी, गैंग मेम्बर)।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा- 2021 (टीईटी) परीक्षा का इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने वाले गिरोह के तीन आरोपितों को उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने शामली से गिरफ्तार कर लिया है। यहां पर पकड़े गए आरोपितों का सरगना मथुरा का बबलू पेपर लेकर आया था। एसटीएफ ने शामली के रवि पंवार, मनीष उर्फ मोनू और धर्मेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया है। उनके कब्जे से टीईटी परीक्षा के पेपर की फोटो कापी बरामद की गई है। सीओ एसटीएफ ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों ने बताया कि अभ्यर्थियों से तीन से पांच लाख की रकम वसूलने की बात सामने आई। 

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles