गुवाहाटी जेल में बंद शरजील इमाम कोरोना संक्रमित, देश की जेलों के हजारों कैदी आए चपेट में

Estimated read time 2 min read

गुवाहाटी जेल में बंद छात्र नेता व एक्टिविस्ट शरजील इमाम के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। शरजील इमाम पर सीएए-एनआरसी विरोधी आंदोलन के दौरान 16 जनवरी 2020 को अलीगढ़ में भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। शरजील पर देशद्रोह की धारा यूएपीए के तहत कार्रवाई करते हुए 28 फरवरी को बिहार से गिरफ्तार किया गया था। असम पुलिस अपने यहां दर्ज राष्ट्रद्रोह के मामले में शरजील को दिल्ली से असम ले गई थी तब से शरजील इमाम गुवाहाटी जेल में बंद हैं। 

शरजील इमाम का जो भाषण चर्चा में रहा, उसमें वो कथित तौर पर असम को भारत से जोड़ने वाले भूभाग जिसे ‘चिकेन नेक’ कहा जाता है, को काटने की बात कहते सुना गया है। भाषण में शरजील इमाम ने कहा कि अगर हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम को हिंदुस्तान से अलग कर सकते हैं, हमेशा के लिए नहीं तो कुछ दिनों के लिए ही असम को भारत से अलग किया जा सकता है। क्या विडंबना है चलताऊ शब्द ‘कटने’, ‘कट करने’ को विभाजन से जोड़कर उन पर राष्ट्रद्रोह की धारा लगाकर जेल में डाल दिया गया। जबकि कट करने से उनका मकसद एकदम स्पष्ट तौर पर चक्का जाम करने से था। 

वरवर राव, अखिल गोगोई भी जेल में कोरोना संक्रमित

11 जुलाई शनिवार को किसान नेता अखिल गोगोई के भी गुवाहाटी केंद्रीय जेल में कोविड-19  से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। अखिल गोगोई को संशोधित नागरिकता कानून/सीएए के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शनों में उनकी कथित भूमिका के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी/एनआईए ने गिरफ्तार किया था। उन्हें 12 दिसंबर 2019 को जोरहट से गिरफ्तार किया गया था।

16 जुलाई को 80 वर्षीय कवि और एक्टिविस्ट वरवर को कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टि हुई। एलगार परिषद-माओवादियों से संबंध होने के कथित आरोप में वह न्यायिक हिरासत में नवी मुंबई के तलोजा जेल में बंद हैं। 80 वर्षीय वरवर राव की तबियत खराब होने के बाद मीडिया में सरकार और जेल प्रशासन की बर्बरता की निंदा होने और वरवर राव के परिवार द्वारा उनके कस्टोडियल मर्डर का आरोप लगाए जाने के बाद इसी सप्ताह उन्हें सरकारी जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां से अब उनको नानावती अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है।

देश की तमाम जेलों में कैद हजारों कैदी कोविड-19 संक्रमित

21 जुलाई को मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के बरेली स्थित जेल में 64 कैदी और 3 प्रहरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जानकारी के अनुसार बरेली जेल में बंद कैदियों में खांसी-बुखार की शिकायत आने पर रविवार देर शाम से सैम्पल कलेक्ट करने शुरू किए गए थे जिनकी जांच रिपोर्ट शाम को आई। इनमें 64 कैदी और 3 प्रहरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 

11 जुलाई को गुवाहाटी केंद्रीय जेल में अखिल गोगोई सहित कुल 55 कैदी कोविड-19 से संक्रमित पाये गए हैं। बता दें कि इस जेल में कुल 1069 कैदी बंद हैं। 55 कैदियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद जेल अधिकारियों ने सभी 1,069 कैदियों के नमूने लेने के आदेश जारी किए हैं।

2 जुलाई को राजस्थान के प्रतापगढ़ के जिला कारागार में 30  कैदियों और 1 जेल प्रहरी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जेल के कुल संक्रमितों की संख्या 57 तक पहुंच गई है। 

28 जून को महाराष्ट्र के अकोला जेल में 68 कैदियों की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। अकोला जिला जेल के 68 कैदियों के अलावा जेल के 20 से अधिक अन्य लोग भी संक्रमित पाए गए हैं। जिला जेल में अभी करीब 300 कैदी हैं और हाल ही में किसी नए कैदी को यहां नहीं लाया गया। इससे पहले 24 जून को भी जिला जेल में 18 कैदी संक्रमित मिले थे।

28 जून को ही दिल्ली के तिहाड़ जेल में 45 कैदी कोरोना संक्रमित पाए गए। एक कैदी की तो कोरोना से मौत भी हो गई। वहीं अब तक 75 जेल स्टाफ को कोविड-19 संक्रमित होने की सूचना है। वहीं कोरोना संक्रमण की वजह से तिहाड़ जेल प्रशासन ने 20 जून तक कुल 4129 कैदियों को छोड़ा है ऐसी भी सूचना है। इनमें 2651 विचाराधीन कैदियों को जमानत पर, 310 ऐसे कैदियों को जिनका बेल ऑर्डर मॉडिफाई होना था और 1108 कैदियों को इमरजेंसी पैरोल पर छोड़ा गया है। जबकि 60 ऐसे कैदियों को जिनकी सजा किसी वजह से कम की गई थी उन्हें भी छोड़ा गया।

2 जुलाई को महाराष्ट्र की नागपुर केंद्रीय जेल में बुधवार को अधिकांश पुलिसकर्मियों सहित कुल 44 लोगों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद जेल में संक्रमितों की संख्या 53 हो गई। 53 लोगों में दो वरिष्ठ जेलर, तीन पुलिस उपनिरीक्षक, 27 कांस्टेबल और 12 कैदी शामिल हैं। जेल में कुल 1,800 कैदी और 265 पुलिसकर्मी हैं।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments