नदी अधिकार यात्रा का दूसरा दिन: कांग्रेस ने कहा-सरकार आयी तो निषादों को उनके पारम्परिक हक़ और नदियों-तालाबों के पट्टे देगी

Estimated read time 1 min read

प्रयागराज। कांग्रेस पार्टी के पिछड़ा वर्ग की तरफ से प्रयागराज बसवार से शुरू हुई नदी अधिकार यात्रा परसों देर रात मवैया गांव पहुंची। निषाद समाज के लोगों ने पदयात्रियों का बहुत उत्साह और अपनत्व के साथ गाजे-बाजे संग स्वागत किया। 

देर शाम ग्रामीणों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय सचिव ज़ुबैर खान ने कहा कि निषाद समाज के लोगों को कांग्रेस के शासन काल में बहुत सारे पारम्परिक हक़ और अधिकार मिले थे। नदियों और तालाबों पर उनका पट्टा था लेकिन यह सरकार अपने चंद पूंजीपति दोस्तों को खुश करने के लिए उनका हक़ छीनने की साजिश कर रही है। 

लवायन गांव में निषाद समाज को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ के विधायक व संसदीय सचिव कुँवर सिंह निषाद ने कहा कि निषाद समाज आदि मालिक है। नदियों के किनारे सदियों से रहता आया है, लेकिन आज निषाद विरोधी यह सरकार हमारे समाज को नदियों से बेदखल करना चाहती है। हम अपने हक़ और अधिकार से बेदखल नहीं होंगे, बल्कि इस सरकार सत्ता से बेदखल होना पड़ेगा। 

चटकहना गांव में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए प्रदेश सचिव राहुल राजभर ने कहा कि भाजपा सरकार में अति पिछड़ा समाज का लगातार उत्पीड़न हो रहा है। भाजपा सत्ता में आने के पहले अति पिछड़ों को आरक्षण की देने की बात करती थी लेकिन सत्ता में आने के बाद सामाजिक न्याय की हत्या कर रही है। 

कल मवैया, लवायन कला, चटकहना, चांडी, खड्सड़ा, मनइया, खनिका गांवों में सघन जनसम्पर्क किया गया। साथ ही साथ पर्चा वितरण और नदी अधिकार पत्र भरवाए गए। खड्सड़ा से मनइया तक नाव यात्रा हुई।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments