Tuesday, October 19, 2021

Add News

control

जनसंख्या नीति मामला: मोदी जी पहले स्पष्ट करें- जनसंख्या वरदान है या अभिशाप

जैसे जैसे चुनाव निकट आते हैं साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण करने वाले कुछ गैर जरूरी मुद्दे विमर्श में तैरने लगते हैं। पहले  सत्ताधारी दल के नेताओं-मंत्रियों के भड़काने वाले आक्रामक बयान आते हैं। फिर उन पर विरोधी दलों के नेताओं एवं...

जनसंख्या नियंत्रण कानून के बहाने सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश

असम सरकार द्वारा कुछ समय पूर्व लागू की गई जनसँख्या नियंत्रण नीति के अंतर्गत दो से अधिक संतानों वाले अभिवावक, स्थानीय संस्थाओं के चुनाव नहीं लड़ सकेंगे और अगर वे सरकारी नौकर हैं तो उनकी पदोन्नति पर विचार नहीं...

जनसंख्या नियंत्रण से तो संघ-भाजपा करते रहे हैं परहेज

जिस तरह इस समय उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर माहौल गरमा रहा है, इसी तरह ठीक पांच साल पहले यानी 2016 के जुलाई-अगस्त में भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए माहौल गरमाने लगा था। इससे दो...

जनसंख्या नियंत्रण कानून कितना जरूरी और कितना नफरत और विषवमन का हिस्सा?

पिछले लम्बे समय से भाजपाइयों-संघियों द्वारा मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाकर उन्हें तेज़ी से जनसंख्या बढ़ाने का ज़िम्मेदार बताया जाता रहा है, इसे संख्याबल में हिन्दुओं से आगे निकलकर भारत को इस्लामिक देश बनाने की साज़िश की तरह प्रचारित...

जनसंख्या नियंत्रण के बेसुरे राग की हकीकत

किसी देश की बड़ी आबादी बेशक उसके लिए ताकत या वरदान मानी जाती है, लेकिन उस आबादी का अगर सदुपयोग न हो तो वह अभिशाप साबित होती है। इस समय तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या सिर्फ भारत के लिए...

नाक में दम करने वाले डिजिटल मीडिया को नाथने की फिराक में सरकार

सरकार के नए इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (इंटरमीडियरी गाइड लाइंस) नियम 2021 को लेकर बहुत कुछ अस्पष्ट है, संभवतः यह अस्पष्टता सायास और सप्रयोजन है और यह सरकार को अपनी सुविधानुसार इन नियमों की मनमानी व्याख्या करने की सुविधा प्रदान करेगी।...

इफको के दो अफसरों ने अपनी जान देकर मिनी भोपाल कांड होने से रोका

इफको के दो अधिकारी असिस्टेंट मैनेजर वीपी सिंह व डिप्टी मैनेजर अभयनंदन तथा ड्यूटी पर तैनात लगभग दो दर्ज़न तकनीशियन यदि अपनी जान की बाज़ी लगाकर प्लांट में डैमेज कंट्रोल न करते और गैस की आपूर्ति न बंद करते...

फेसबुक के बाद ह्वाट्सएप भी बीजेपी की जेब में!

(फेसबुक का बीजेपी के साथ रिश्तों का गठजोड़ सामने आने के बाद अब बारी ह्वाट्सएप की है। ह्वाट्सएप के इंडिया इंचार्ज शिवनाथ ठुकराल 2014 में बीजेपी के  चुनाव अभियान का हिस्सा रहे हैं। आपको बता दें कि ह्वाट्सएप का...

समाज के सबसे निचले पायदान पर खड़े दलितों को अर्थव्यवस्था में भी कोई जगह मयस्सर नहीं

किसी देश की अर्थव्यवस्था में हिस्सेदारी के मुख्यत: दो स्रोत होते हैं- उत्पादन के साधनों पर मालिकाना और शिक्षा-कौशल। अन्य दो स्रोत राजनीतिक एवं धार्मिक सत्ता यह तय करने में अहम भूमिका निभाते हैं कि किसका उत्पादन के साधनों...
- Advertisement -spot_img

Latest News

लोग कोरोना से मर रहे थे और मोदी सरकार के मंत्री संपत्ति ख़रीद रहे थे

कोरोनाकाल के पहले चरण की शुरुआत अप्रैल 2020 से शुरु होती है। जबकि कोरोना के दूसरे चरण अप्रैल 2021...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.