Monday, August 15, 2022

dictator

श्रीलंका संकट के सबक

श्रीलंका के हालिया राजनैतिक संकट ने उस देश के नागरिकों के अलावा पड़ोसी देशों बल्कि पूरे विश्व के रहवासियों का ध्यान खींचा है। वहां के घटनाक्रम को देखकर दुनिया सन्न रह गई है। श्रीलंका एक ओर मानवीय त्रासदी से...

आजादी की अलख जगाती एक जरूरी किताब

सैंतालिस साल पहले भारत में लागू हुआ था आपातकाल। तब उसे लागू करने वाली सरकार ने 19 महीनों में ही हाथ खड़े कर दिए थे। कुछ लोग मानते हैं कि तब सरकार निश्चिंत हो गई थी कि देश की...

जुगुनुओं को कैद करता तानाशाह

इस बार 21-22 वर्ष की दिशा रवि को बिना किसी तरीके की सुनवाई के सीधे पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। दिशा पर देशद्रोह, राष्ट्र के खिलाफ बगावत और न जाने कैसे-कैसे संगीन आरोप मढ़े गए...

फ़ैज़ की जयंतीः ‘अब टूट गिरेंगी ज़ंजीरें, अब जिंदानों की खैर नहीं’

उर्दू अदब में फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ का मुकाम एक अजीमतर शायर के तौर पर है। वे न सिर्फ उर्दू भाषियों के पसंदीदा शायर हैं, बल्कि हिंदी और पंजाबी भाषी लोग भी उन्हें उतनी ही शिद्दत से मोहब्बत करते हैं।...

तानाशाह मोदी! किसान, मजदूर और आम आदमी की रोटी मत छीनिए: वकील ने सुसाइड नोट में कहा

जैसे-जैसे किसान आंदोलन की समयावधि लंबी खिंचती जा रही है आंदोलन में आत्महत्या के मामलों में बढ़ोत्तरी दर्ज़ की जा रही है।  इसी कड़ी में आज रविवार की सुबह आंदोलन में शामिल अमरजीत सिंह नामक एक वकील ने हरियाणा के...

बेहद मौजू हो गई है चार्ली चैप्लिन की फिल्म ‘द ग्रेट डिक्टेटर’

प्रख्यात फ़िल्म अभिनेता, चार्ली चैप्लिन की  आज पुण्यतिथि है। चार्ली विश्व सिनेमा के एक महानतम अभिनेता रहे हैं। उनका निधन, 25 दिसंबर 1977 को हुआ था। वे कहते थे, हंसे बिना, गुज़ारा हुआ एक दिन, बरबाद हुए एक दिन...

हिटलर और उसकी नाटकीयता

30 अप्रैल के ही दिन 1945 ई में ज़र्मनी के तानाशाह एडोल्फ हिटलर ने आत्महत्या कर ली थी। हिटलर जिसे लगता था कि वह द्वितीय विश्वयुद्ध में इटली और जापान के साथ धुरी राष्ट्र का एक गुट बनाकर दुनिया...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जश्न और जुलूसों के नाम थी आज़ादी की वह सुबह

देश की आज़ादी लाखों-लाख लोगों की कु़र्बानियों का नतीज़ा है। जिसमें लेखक, कलाकारों और संस्कृतिकर्मियों ने भी अपनी बड़ी...
- Advertisement -spot_img