Saturday, May 28, 2022

population

कम बच्चा पैदा करने में सबसे आगे निकलीं मुस्लिम महिलाएं ! NHFS-5 की रिपोर्ट में खुलासा

आम धारणा यह है कि मुसलमान सबसे ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं। अक्सर मुसलमानों को इस बात के लिए निशाने पर लिया जाता है कि वे ‘जनसंख्या जेहाद’ कर रहे हैं। मगर, क्या यह सच है? सच्चाई इसके उलट...

आजादी के 70 साल बाद भी आबादी के बड़े हिस्से को नसीब नहीं हो पाया एक अदद आशियाना

आधी रात के समय बिहार के समस्तीपुर जिले की भागपुरा पंचायत के एक गांव चटोली के तालाब के पास कुछ पचास लोग बड़ी ही व्याकुलता और चिंता के साथ चर्चा कर रहे थे। वह यहाँ इकट्ठे हुए थे अपने...

यूपी में नहीं थम रहा है डेंगू का कहर, निशाने पर मासूम

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रदेश में जनसंख्या क़ानून तो लागू कर दिया लेकिन वो डेंगू वॉयरल फीवर, न्यूमोनिया, टायफाइड, डायरिया और मलेरिया जैसी साधारण बीमारियों का इलाज भी प्रदेश के बच्चों को नहीं मुहैया करवा पा रही...

तमिलनाडु ने जनसंख्या वृद्धि नियंत्रित की और लोकसभा में दो सीटें कम हो गयीं!

क्या जनसंख्या नियंत्रण करना गुनाह है? बहुमत की शासन प्रणाली में वे राज्य और वे जातिगत समूह जो परिवार नियोजन अपना कर अपनी संख्या सीमित कर रहे हैं, जनसंख्या घटा रहे हैं वे एक व्यक्ति एक वोट के आधार...

जनसंख्या नीति मामला: मोदी जी पहले स्पष्ट करें- जनसंख्या वरदान है या अभिशाप

जैसे जैसे चुनाव निकट आते हैं साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण करने वाले कुछ गैर जरूरी मुद्दे विमर्श में तैरने लगते हैं। पहले  सत्ताधारी दल के नेताओं-मंत्रियों के भड़काने वाले आक्रामक बयान आते हैं। फिर उन पर विरोधी दलों के नेताओं एवं...

मुस्लिम जनसंख्या विस्फोट का मिथक

जनसांख्यिकी विशेषज्ञ बताते हैं कि जनसंख्या परिवर्तन तीन जनसांख्यिकीय कारकों उर्वरता, मृत्यु दर और प्रवास द्वारा निर्धारित किया जाता है, न कि केवल प्रजनन क्षमता से। आपके पास उच्च प्रजनन दर हो सकती है, लेकिन यदि आपकी मृत्यु दर...

विकास ही सबसे अच्छा गर्भ-निरोधक है

विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन के अनुसार, क्षय रोग (टीबी) का सबसे बड़ा खतरा कु-पोषण है। ज़ाहिर सी बात है कि यदि टीबी उन्मूलन के सपने को साकार करना है तो कु-पोषण को नज़रंदाज़ नहीं...

जनसंख्या नियंत्रण कानून के बहाने सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश

असम सरकार द्वारा कुछ समय पूर्व लागू की गई जनसँख्या नियंत्रण नीति के अंतर्गत दो से अधिक संतानों वाले अभिवावक, स्थानीय संस्थाओं के चुनाव नहीं लड़ सकेंगे और अगर वे सरकारी नौकर हैं तो उनकी पदोन्नति पर विचार नहीं...

जनसंख्या नियंत्रण से तो संघ-भाजपा करते रहे हैं परहेज

जिस तरह इस समय उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर माहौल गरमा रहा है, इसी तरह ठीक पांच साल पहले यानी 2016 के जुलाई-अगस्त में भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए माहौल गरमाने लगा था। इससे दो...

जनसंख्या नियंत्रण कानून कितना जरूरी और कितना नफरत और विषवमन का हिस्सा?

पिछले लम्बे समय से भाजपाइयों-संघियों द्वारा मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाकर उन्हें तेज़ी से जनसंख्या बढ़ाने का ज़िम्मेदार बताया जाता रहा है, इसे संख्याबल में हिन्दुओं से आगे निकलकर भारत को इस्लामिक देश बनाने की साज़िश की तरह प्रचारित...
- Advertisement -spot_img

Latest News

साम्प्रदायिकता से संघर्ष को स्थगित रखना घातक

जब सुप्रीम कोर्ट ने असाधारण तत्परता से अनवरत सुनवाई कर राम मंदिर विवाद में बहुसंख्यक समुदाय की भावनाओं के...
- Advertisement -spot_img