Wednesday, June 29, 2022

war

यूक्रेन युद्ध और भूख की आसन्न महामारी-1

(पहले से ही सबसे बुरे आर्थिक झटके और कोविड -19 लॉकडाउन के परिणामस्वरूप अभूतपूर्व भूख और आजीविका के संकट से जूझ रही दुनिया की कमजोर आबादी के लिए यूक्रेन युद्ध अस्तित्व का खतरा साबित हो सकता है। दो भागों...

युद्ध में झुलसती मनुष्यता और मनुष्य की क्रूरता का आख्यान  

दुनिया में नर्क और दर्द का दायरा बहुत बड़ा है। अपेक्षाकृत विकसित समझे जाने वाले ऐसे यूरोपीय देश, जहां एक समय समाजवाद की जमीन तैयार की जा रही थी, वे  भी इससे अछूते नहीं हैं। अलग-अलग जातीय-समूहों और देशों...

महज एक आइसबर्ग है रूस-यूक्रेन युद्ध

दुनिया आज जिस रूस-यूक्रेन युद्ध को दम साधे देख रही है, वह एक आइसबर्ग की तरह है। जिसका एक छोटा-सा हिस्सा दिखाई दे रहा है जबकि सतह के भीतर बहुत कुछ अदृश्य है। आगे बढ़ने से पहले थोड़ा पीछे चलते...

रूस-यूक्रेन युद्ध के लिए कैसे है नाटो जिम्मेदार

रूस द्वारा यूक्रेन पर हमले के 20 दिन बीत चुके हैं। मीडिया से प्राप्त, अब तक के ताजे अपटेड के अनुसार, यूक्रेन का दावा है कि दक्षिणी शहर मारियुपोल पर रूसी बमबारी से 2,500 से ज्यादा मौतें हुई हैं।...

अब बेनकाब हो गया है पश्चिम का सॉफ्ट पॉवर भी

विश्व प्रसिद्ध अर्थशास्त्री माइकल हडसन ने यूक्रेन संकट के बारे में लिखे अपने एक हालिया लेख का शीर्षक दिया है- The American Empire self-destructs यानी अमेरिकी साम्राज्य आत्म-विनाश कर रहा है। हडसन ने ये लेख मुख्य तौर पर यूक्रेन...

यूक्रेन मामले में तटस्थता अब कतई उचित नहीं

फ़्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों से लंबी बातचीत में पुतिन ने यह साफ़ संकेत दे दिया है कि वह यूक्रेन पर अपने हमले को जल्द ख़त्म करने वाला नहीं है। मैक्रों के शब्दों में - “अभी और भी भारी तबाही...

दुनिया को किस दिशा में ले जा रहा है यूक्रेन संकट

कई महीनों से लाखों की संख्या में रूसी फौज ने तीन तरफ से यूक्रेन की घेराबंदी कर रखी थी। कई सप्ताह से वास्तविक युद्ध जैसे हालात के बीच रूसी फौजों का युद्धाभ्यास जारी था। इसके साथ ही एक से...

विशेष लेख: हिटलर के रास्ते पर बढ़ चले हैं मोदी!

दुनिया का क्रूरतम् तानाशाह एडोल्फ हिटलर 20 अप्रैल, 1889 को यूरोप के एक छोटे से देश ऑस्ट्रिया के एक छोटे से शहर वॉन में पैदा हुआ था। उसने द्वितीय विश्वयुद्ध में इस दुनिया में जुल्म, बर्बरता, क्रूरता और वहशीपना...

सरकार की शह पर जारी है देश में गृहयुद्ध के हालात पैदा करने के प्रयास

उत्तराखंड के हरिद्वार और छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में हिंदुत्ववादी संगठनों की हाल ही में हुई तथाकथित धर्म संसद में जिस तरह की बातें कही गईं, वैसी बातें अगर मुसलमानों, ईसाइयों या सिखों की किसी मजलिस या जलसे में...

बांग्लादेश का मुक्ति संघर्ष: इंदिरा गांधी ने हर मोर्चे पर सफलता हासिल की थी

जब सोवियत संघ के महान नेता स्टालिन की मृत्यु हुई थी तब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा था कि स्टालिन was strong both in peace and war इसी तरह की श्रद्धांजलि श्रीमती इंदिरा गांधी को दी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

छत्तीसगढ़: भूमि अधिकार आंदोलन के तहत आयोजित हुआ राज्य स्तरीय सम्मेलन 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पास्टोरल सेंटर में भूमि अधिकार आंदोलन का राज्य सम्मेलन आयोजित हुआ। 28 जून...
- Advertisement -spot_img