Subscribe for notification

बीच बहस

नागरिकता बिल, भौगोलिक हालात और कश्मीर पर संघी झूठ

एक देश एक कानून की सनक का क्या हाल होता है, उसकी मिसाल है नागरिकता बिल। जब यह कानून बनेगा…

10 months ago

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देश दरकिनार

हम पहले या आप पहले में हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या के चारों आरोपियों के…

10 months ago

क्या कोई अराजक समाज दे सकता है मानवाधिकारों के रक्षा की गारंटी?

क्या मानवाधिकारों के प्रति असंवेदनशीलता किसी ताकतवर राष्ट्र की पहली पहचान है? क्या राष्ट्रीय सुरक्षा तभी मजबूत हो सकती है…

10 months ago

बर्बरता न्यायपूर्ण समाज का निर्माण नहीं कर सकती

हैदराबाद में बलात्कारियों के एनकाउंटर की पूरे देश में भारी प्रतिक्रिया हुई है। अभी हमारा समाज जिस प्रकार की राजनीति…

10 months ago

सक्षम अर्थशास्त्री के बगैर चल रही है भारतीय अर्थव्यवस्था

हर कोई अर्थशस्त्री है - घरेलू बजट तैयार करने वाली गृहणी से लेकर दूध बेचने वाले गोपालकों तक और पुर्जे…

10 months ago

खालिस्तानी आतंकी वारदातों के आरोपियों के साथ मिलकर क्या गुल खिला रही हैं केंद्रीय एजेंसियां?

मोदी की अगुआई वाली केंद्र सरकार इन दिनों एक खास मकसद से पूर्व खालिस्तानी आतंकवादियों पर खास मेहरबान है। गृहमंत्री…

10 months ago

ऑन स्पॉट फ़ैसला: घोर ‘अंधकार युग’ का अवशेष

ठीक दो साल पहले, 2017 के अक्तूबर का दूसरा सप्ताह। हरियाणा के यमुनानगर की एक आम सी महिला, गीता चौधरी…

10 months ago

न्याय को कभी बदले का रूप नहीं लेना चाहिए: चीफ जस्टिस बोबडे

नई दिल्ली। हैदराबाद गैंगरेप कांड के आरोपियों के एनकाउंटर में मारे जाने के एक दिन बाद सुप्रीम कोर्ट के चीफ…

10 months ago

लोकतांत्रिक संस्थाएं भी मना रही हैं अपनी मौत का जश्न

भारतीय समाज के अपराधीकरण की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है। शुक्रवार की हैदराबाद की घटना और उसके बाद देश…

10 months ago

खूनी खेल के जंगली तमाशबीन!

सऊदी अरब में आज की दुनिया की सबसे बर्बर राजशाही चल रही है। इसकी एक पहचान है रियाद शहर का…

10 months ago