अफ़ग़ानिस्तान पर सर्वदलीय बैठक में केंद्र ने ‘वेट एंड वॉच’ के लिये कहा

Estimated read time 1 min read

केंद्र सरकार द्वारा अफ़ग़ानिस्तान के मौजूदा हालात और वहां फंसे भारतीयों के मुद्दे पर बुलायी गयी सर्वदलीय बैठक में 31 पार्टियों के 37 नेता बैठक में मौजूद ​थे। अफ़ग़ानिस्तान संकट पर हुयी इस अहम सर्वदलीय बैठक में भारत सरकार की तरफ से विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और प्रहलाद जोशी भी मौजूद थे। मीटिंग आज सुबह 11 बजे मुख्य समिति कक्ष, संसद भवन सौंध, नई दिल्ली में हुयी। 

राजनीतिक पार्टियों के संसदीय दलों के नेताओं को अफ़ग़ानिस्तान की मौजूदा स्थिति से अवगत कराने हेतु बुलायी गयी सर्वदलीय बैठक के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मीडिया से कहा कि ” इस मुद्दे पर सरकार और सभी राजनीतिक पार्टियों की एक जैसी राय है।” 

उन्होंने आगे कहा कि “हम ज़्यादातर भारतीयों को वापस ले आए हैं लेकिन सबको वापस नहीं ला पाए हैं। हम कुछ अफ़ग़ान नागरिकों को भी लाए हैं जो इस समय भारत आना चाहते थे। सरकार जल्दी से जल्दी लोगों की पूरी वापसी सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।” 

विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा साझा की गई जानकारी के अनुसार अब तक अफगानिस्तान से 175 दूतावास कर्मियों, 263 अन्य भारतीय नागरिक, हिंदुओं और सिखों सहित 112 अफगान नागरिक, 15 तीसरे देश के नागरिक यानी कि कुल 565 लोगों को निकाला गया। भारत सरकार ने अन्य एजेंसियों द्वारा भारतीयों को निकालने में भी मदद की।

उन्होंने आगे बताया कि अफगान नागरिकों के लिए ई-वीजा प्रणाली शुरू की गई है। एक सुव्यवस्थित तरीके से अफगानिस्तान से प्रत्यावर्तन और अन्य अनुरोधों के समन्वय के लिए 16 अगस्त को विशेष अफगान सेल की स्थापना की गई थी। कॉल, ईमेल और व्हाट्सएप संदेशों पर अनुरोधों का जवाब देने के लिए 24X7 सेवा दी जा रही है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बैठक में कहा कि ऑपरेशन ‘देवी शक्ति’ के तहत हमने छह निकासी उड़ानें संचालित की हैं। हम अधिकांश भारतीयों को वापस लाए हैं, लेकिन उन सभी को नहीं, क्योंकि उनमें से कुछ लोग उड़ान के दिन नहीं पहुंच सके। हम निश्चित रूप से कोशिश करेंगे और सभी को बाहर लाएंगे।  

वहीं नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुये कहा है कि -” हमें देश और लोगों के हित में एकजुट होकर काम करना है। उन्होंने मीटिंग में ”वेट एंड वॉच” के लिए बोला है। “

सर्वदलीय बैठक को लेकर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि यह पूरे देश की समस्या है। हमें लोगों और देश के हितों के लिए मिलकर काम करना होगा। उन्होंने हमसे इंतज़ार करने और नज़र बनाए रखने को लिए कहा है। सभी दलों ने ऐसा ही विचार व्यक्त किया है।

सर्वदलीय बैठक में 31 पार्टियों के 37 नेता मौजूद रहे। इनमें एनके प्रेमचंद्रन, लल्लन सिंह, बिनय विश्वम और प्रसन्ना आचार्य शामिल हैं। विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंग्ला, पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी समेत अन्य नेता भी बैठक में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि बैठक में शामिल हुए।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments