Estimated read time 1 min read
पहला पन्ना 

100 साल बाद भी गोलवलकर की विरासत की काली छाया में आरएसएस

मुंबई में 4-5 अक्टूबर 2023 को आयोजित अपनी वार्षिक संगोष्ठी में ‘इंडिया टुडे’ ने आरएसएस पर केन्द्रित एक सत्र भी रखा था। सत्र का विषय [more…]

Estimated read time 2 min read
पहला पन्ना 

संविधान, तिरंगा और संघीय ढांचे का विरोधी रहा है संघ: पढ़िए गोलवलकर के विचार

भारत और इंडिया का विवाद, जानबूझकर पैदा किया गया विवाद है। इसका उद्देश्य है विपक्षी गठबंधन को नुकसान पहुंचना और आरएसएस के धर्म आधारित राष्ट्रवाद [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

26 मई, 2014 को स्वतंत्रता दिवस मानने वालों की निगाह में क्या है कुर्बानियों का मोल?

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत अकेली भारतीय नागरिक नहीं जो कि यह मानती हैं कि भारत को असली आजादी 15 अगस्त, 1947 को नहीं बल्कि 26 [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

गोलवलीकरण से गोडसेकरण की ओर

पिछले सप्ताह भारत सरकार के संस्कृति मंत्री के गोलवलकर की महिमा का बखान करते हुए किये गए ट्वीट ने देश के राजनीतिक विमर्श को आधिकारिक [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

गोलवलकर की पतनशील विचारधारा को प्रेरक तत्व मानता है मौजूदा सत्ताधारी दल

भारत के वर्तमान सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता भले ही हमारे धर्मनिरपेक्ष-बहुवादी और संघात्मक संविधान के नाम पर शपथ लेते हों परन्तु [more…]

Estimated read time 2 min read
बीच बहस

संदर्भ भारत छोड़ो आंदोलन: गोलवलकर और सावरकर का था स्वतंत्रता आंदोलन से 36 का रिश्ता

भारत के स्वाधीनता संग्राम की जो विशेषताएं उसे विलक्षण बनाती हैं, उनमें उसका सर्वसमावेशी स्वरूप और निर्णायक तौर पर अहिंसक प्रवृत्ति मुख्य हैं। महात्मा गांधी [more…]

Estimated read time 2 min read
बीच बहस

हिंसा अशांत करती है, तोड़ती है और बांटती है: गांधी

1939 में गोलवलकर ने एक पुस्तक लिखी थी- वी ऑर आवर नेशनहुड डिफाइंड। इस पुस्तक के पांचवें अध्याय में वे यह दर्शाते हैं कि जब [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

बीजेपी दूसरी संस्कृतियों की कब्र पर खिलाना चाहती है बहुसंख्यक संस्कृति का फूल

1 comment

कश्मीरी छात्रों और छात्राओं ने स्वतन्त्रता दिवस से तीन दिन पहले आई ईद-उल-अदहा का आयोजन 12 अगस्त, 2019 को जंतर-मंतर पर किया, कारण था उनका [more…]