Friday, July 1, 2022

nirmala

मनमोहन ने किया निर्मला पर पलटवार, कहा- अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने लिए उसकी कमियों को जानना पहली शर्त

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर तगड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार जनता के पक्ष वाली नीतियों को अपनाने में पूरी तरह से नाकाम रही है। इस सिलसिले में उन्होंने वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन के...

देश में लहलहा रही है झूठ की खेती की फसल

झूठ की खेती करना कोई मोदी और उनके मंत्रियों से सीखे। स्वयंसेवकों के दिमाग में बचपन में बोयी गयी यह फसल अब पूरे देश में लहलहा रही है। दरअसल जब आप किसी व्यक्ति का विरोध कर रहे होते हैं...

“किसी विपक्षी नेता के खिलाफ सफलतापूर्वक की गयी एक भी कार्रवाई मेरी कुर्सी सुरक्षित कर सकती है”

नई दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज यानि सीबीडीटी के चेयरमैन प्रमोद चंद मोडी ने एक संवेदनशील मामले को दफनाने का एक बेहद चौंकाने वाला निर्देश दिया था इसके साथ ही उन्होंने यह दावा किया था कि विपक्ष के एक नेता...

कॉरपोरेट भक्त सरकार की आर्त विनती

19 सितंबर 2019 के दिन को भारतीय पूंजीवाद के इतिहास के ऐसे स्वर्णिम दिन के रूप में याद किया जायेगा जब भारत के कॉरपोरेट जगत ने अपनी ताकत का भरपूर परिचय दिया और 2014 और 2019 में महाबली मोदी...

निर्मला जी! पकौड़े और दुकान से नहीं संभलेगी भारत की बिगड़ी हुयी भीमकाय अर्थव्यवस्था

भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ मजाक हो रहा है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने तो सचमुच में देश को बहीखाते के युग में पहुंचा दिया।  अर्थव्यवस्था के तमाम मोर्चे पर नाकाम जेएनयू की इन मोहतरमा को तो कम से कम इसका श्रेय दिया...

देश की जीडीपी में बड़ी गिरावट, विकास दर 5 फीसदी पर आ गयी

नई दिल्ली। भारत की जीडीपी विकास दर घटकर 5 फीसदी पर आ गयी है। 30 जून को खत्म हुए तिमाही से जुड़ा यह डाटा शुक्रवार को आया। पिछले छह सालों के दौरान यह सबसे कम विकास दर है। यह दर इकोनामिस्ट...

स्लोडाउन भी नहीं डाउन कर सका वित्तमंत्री का अहंकार

वित्तमंत्री कल प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेरे मुर्गे की तीन टांग पर अड़ी रहीं, बोली कोई मंदी नहीं है ! कोई स्लोडाउन नहीं है! यह घोषणाएं हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकि व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल की यह मांग उठा रहे थे। लेकिन साफ दिख...

अर्थव्यवस्था के विध्वंस के लिये बिछा दिया गया है बारूद का व्यापक जाल

वित्त सचिव सुभाष गर्ग को केंद्र में रख कर शुरू हुए विवादों का जो चारों ओर से भारी शोर सुनाई दे रहा है, वह इतना बताने के लिये काफी है कि भारत की अर्थ-व्यवस्था और वित्त-प्रबंधन के केंद्रों पर अब पूरी...

सरकार का विधेयकों को पारित कराने का रास्ता असंवैधानिक

संसद के ऐसे सदन को संबोधित करने के लिए काफी हिम्मत चाहिए होती है जिसमें विपक्ष की जगह खाली पड़ी हो। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 23 जुलाई 2019 को राज्यसभा में जो किया, वह यही था! उन्होंने अपना पहला वित्त विधेयक...

तबाही की तरफ जा रही है मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था

मोदी सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण अर्थव्यवस्था तबाह हो गयी है। बढ़ते एनपीए के कारण बैंकिंग सेक्टर की हालत अब इतनी खराब हो चुकी है कि उसके पास एमएसएमई फर्मों को जो बड़े पैमाने पर निर्यात क्षेत्र से जुड़ी हुई...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हिन्दुत्व के सबसे सटीक व्याख्याकार निकले एकनाथ शिंदे 

कई बार ढेर सारी शास्त्रीय कोशिशें, कई ग्रन्थ, अनेक परिभाषाएं और उनकी अनेकानेक व्याख्यायें भी साफ़ साफ़ नहीं समझा...
- Advertisement -spot_img