Tuesday, January 18, 2022

Add News

oil

रसोई ईंधनों के दामों में वृद्धि के बाद कज़ाकिस्तान में भारी विरोध, प्रधानमंत्री का इस्तीफा, आपातकाल की घोषणा

क़ज़ाकिस्तान में तेल और एलपीजी की बढ़ती कीमतों के कारण भारी हिंसा और आगजनी हो रही है। क़ज़ाकिस्तान के सबसे बड़े शहर में सरकारी इमारतों पर हुए हमलों में दर्जनों लोग मारे गए हैं। प्रदर्शनकारियों ने सरकारी इमारतों में...

केंद्र सरकार की लालच के नतीजे थे पेट्रोल और डीजल पर लगाए गए उच्च कर

हिमाचल में तीन विधानसभा और एक लोकसभा तथा राजस्थान में दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव में कहीं जमानत जब्त करा ली तो कहीं तीसरे-चौथे स्थान पर पहुंच गयी तो अचानक मोदी सरकार कि नींद टूटी और एक्साइज ड्यूटी में...

तेल की राजनीति, तालिबान और इस्लामोफोबिया का भारत पर प्रभाव

अफगानिस्तान से अमरीकी सेना की वापसी के नतीजे में वहां तालिबान सत्ता में आ गए हैं। अफगानिस्तान का घटनाक्रम चिंता पैदा करने वाला है। वहां के अल्पसंख्यकों और मुसलमानों ने देश से किसी भी तरह भाग निकलने के जिस...

तेल के दामों की बहार देखो, अडानी के मुनाफे की धार देखो! शिवराज का गेंहू व्यापार देखो

पूरे देश में सरसों के तेल और उसी अनुपात में बाकी खाद्य तेलों की बेतहाशा तेजी से बढ़ती कीमतों की वजह से पूरा देश स्तब्ध और परेशान है। लम्बी चुप्पी के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने...

तेल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ा कर जनता को खुलेआम लूट रही है सरकार: सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक बार फिर सरकार पर हमला बोला है। प्रेस के लिए जारी एक वक्तव्य में उन्होंने कहा है कि आज़ाद भारत के इतिहास में पहली बार देश आज एक दोराहे पर खड़ा...

डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतें: प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बन गयी है भारत सरकार

क्या भारत सरकार का का मतलब प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी है? जिसका मुख्य लक्ष्य केवल अधिक से अधिक मुनाफा कमाना भर है? प्रश्न महत्वपूर्ण है। क्योंकि वैश्विक कोरोना त्रासदी के बीच भी जिस तरह से सरकार की नीतियां आम जनता...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...
- Advertisement -spot_img