Saturday, October 23, 2021

Add News

Open letter

देश की नारीवादियों ने किसान कानून को ड्रैकोनियन बताते हुए पीएम को लिखा खुला खत

देश की नारीवादियों और महिला अधिकार समूहों ने देश के प्रधानमंत्री के नाम एक खुला पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है- “नारीवादियों और महिलाओं के अधिकार समूहों के रूप में, हम केंद्र सरकार द्वारा पारित ड्रैकोनियन कृषि कानूनों...

चीफ जस्टिस की टिप्पणी पर महिलाओं में रोष, खत लिखकर जताया सख्त एतराज

ऐतिहासिक किसान आंदोलन में महिलाओं की भागीदारी पर सर्वोच्च न्यायालय में की गई नकारात्मक टिप्पणियों पर भारत के मुख्य न्यायाधीश का ध्यान आकर्षित करते हुए 800 से अधिक महिला किसानों और विद्यार्थियों ने एक खुला पत्र लिखा है। उन्होंने...

किसान आंदोलन के समर्थन में पूर्व नौकरशाहों के समूह ने लिखा खुला पत्र

पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों (आईएएस, आईपीएस, आईएफएस) के एक समूह 'सीसीजी' ने किसान आंदोलन को लेकर एक खुला पत्र लिखा है। पत्र में 78 पूर्व नौकरशाहों के हस्ताक्षर हैं। पत्र की शुरुआत में नौकरशाहों के समूह (CCG) का परिचय देते...

हम भूमिपुत्र स्वयं अपने इतिहास के कर्ता हैं

(प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक भूमिपुत्र का खुला ख़त) लिखतुम भूमिपुत्र, पढ़तुम प्रधानमंत्री मोदी,नमस्कार, आदाब, सत् श्री अकाल थोड़े लिखे को तुम ज्यादा ही समझना। ‘आप’ के बजाय ‘तुम’ कहकर संबोधित इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि दिल में रंजिश हो तो...

जनता के नाम खुला पत्रः चरवाहे से नाराज भेड़ों ने कसाई को चुन लिया

प्यारे देश वासियों। आप सभी स्वस्थ और खुश होंगे ऐसी कामना करता हूं, लेकिन अफसोस आप न स्वस्थ हो और न खुश, क्योंकि भारत बीमार लोगों का घर बनता जा रहा है। बीमार आदमी खुश रह ही नहीं सकता है। ज्यादा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

अडानी-भूपेश बघेल की मिलीभगत का एक और नमूना, कानून की धज्जियां उड़ाकर परसा कोल ब्लॉक को दी गई वन स्वीकृति

रायपुर। हसदेव अरण्य क्षेत्र में प्रस्तावित परसा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना को दिनांक 21 अक्टूबर, 2021 को केन्द्रीय...
- Advertisement -spot_img