Monday, November 29, 2021

Add News

tv

पूर्व नौकरशाहों ने लिखा कारपोरेट घरानों को खत, कहा- घृणा व नफरत फैलाने वाले चैनलों को विज्ञापन देना बंद करें

(समय के साथ सत्ता के संरक्षण में देश में चलायी जा रही नफरत और घृणा की आंधी के खिलाफ बारी-बारी से लोग खड़े होने लगे हैं। बुद्धिजीवियों और साहित्यकारों तथा सिविल सोसाइटी के बाद अब कमान पूर्व नौकरशाहों ने...

टीआरपी घोटाला मामले में एक और शख्स यूपी से गिरफ्तार

नई दिल्ली। टीआरपी मामले में मुंबई पुलिस ने एक शख्स को यूपी से गिरफ्तार किया है। विनय त्रिपाठी नाम का यह व्यक्ति बताया जा रहा है कि हंसा रिसर्च का कर्मचारी है जिसके ऊपर इस घोटाले का आरोप लग...

सुप्रीम फटकार के बाद नींद से जागा एनबीएसए, सुशांत मामले में ‘आज तक’ समेत कई चैनलों पर लगाया जुर्माना

सुदर्शन न्यूज टीवी के विवादास्पद शो के खिलाफ मामले की सुनवाई के दौरान उच्चतम न्यायालय की फटकार के बाद न्यूज़ ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी (एनबीएसए) की तन्द्रा टूटी है और एनबीएसए ने इलेक्ट्रॉनिक समाचार चैनल आजतक, जी न्यूज, न्यूज 24 और इंडिया टीवी को...

टीआरपी के घोड़े पर सवार टीवी चैनलों के बदनुमा चेहरों का पर्दाफाश

निजी समाचार चैनलों में आपसी प्रतिस्पर्धा और टीआरपी की होड़ ने आम जनता की परेशानियों से उसे दूर कर दिया और सत्ता की गोद में बैठा दिया है। विशेष कर अन्ना आन्दोलन के समय से यह टेंडेंसी ज्यादा तेज...

सुदर्शन टीवी मामले में केंद्र को होना पड़ा शर्मिंदा, सुप्रीम कोर्ट के सामने मानी अपनी गलती

जब उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से जवाब तलब किया कि सुदर्शन टीवी पर विवादित शो 'यूपीएससी जिहाद' के प्रसारण की अनुमति दी गयी तो क्या उस कार्यक्रम के कंटेंट पर नजर रखी गयी? तब केंद्र सरकार ने उच्चतम...

रिपब्लिक टीवी में पत्रकारिता मर चुकी है; कहते हुए महिला पत्रकार ने चैनल से दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में रिपोर्टिंग कर रही पत्रकार शांताश्री सरकार ने यह कहते हुए रिपब्लिक टीवी से इस्तीफे की घोषणा की कि इस संस्थान में पत्रकारिता मर चुकी है। उन्होंने ट्वीट की एक...

बहुत लंबी है टीवी के पतन की प्रक्रिया

इससे पहले कि टीवी समाचार के आसमान पर छाए बादल फटते मैं निकल आया था। या निकलने को विवश हुआ था। लेकिन जाता कहां? ये मेरी ख़ुशफ़हमी थी। अपने इर्दगिर्द ऐसी फुसफुसाहटें, और ऐसी शिकारी आंखें रेंगने लगी थीं...

क्यों पत्रकारिता के भीष्म पितामह हैं विनोद दुआ?

विनोद दुआ को पत्रकारिता का भीष्म पितामह कहे जाने पर प्रतिक्रियाएं लगातार मिली हैं। असहमति के सुर अधिक मुखर हैं। मगर, जो प्रतिक्रियाएं नहीं आयी हैं उनमें सहमति के स्वर की नाद मैं ढूंढता हूं। सवाल उठाने वालों ने...

प्रशासनिक अक्षमता से भरा हुआ है सप्तपदी ब्रांड लॉक डाउन

मुंबई मे हज़ारों मज़दूर लॉक डाउन तोड़ कर सड़कों पर आ गए हैं और सारी सोशल डिस्टेंसिंग और फिजिकल डिस्टेंसिंग, की बातें धरी की धरी रह गयीं। इक्कीस दिनी लॉक डाउन के बाद यह प्रवासी कामगारों का तीसरा बड़ा...

भारत को बचाना है, न्यूज़ चैनलों को भगाना है; बंद करो टीवी, बंद करो

गुजरात के लाखों युवाओं को बधाई। आखिर उन्होंने सरकार को मानने के लिए बाध्य कर दिया। अब 12 वीं की योग्यता वाले भी इम्तहान दे सकेंगे। परीक्षा की तारीख़ भी आ गई है। 17 नवंबर को परीक्षा होगी। छात्रों इसी बहाने आपसे अपील है। न्यूज़ चैनल...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भारत-माता का संदर्भ और नागरिक, देश तथा समाज का प्रसंग

'भारत माता की जय' भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान सबसे अधिक लगाया जाने वाला नारा था। भारत माता का...
- Advertisement -spot_img