Wednesday, February 1, 2023

women

अंडमान में सेक्स के बदले नौकरी में पूर्व मुख्य सचिव और श्रम आयुक्त फंसे, एसआईटी के समक्ष पेश होने का हाईकोर्ट का निर्देश

अंडमान में 'सेक्स के बदले नौकरी' रैकेट के खुलासे से नौकरशाही में हड़कम्प मच गया है। इस मामले में मुख्य आरोपी कोई और नहीं बल्कि अंडमान और निकोबार (ए एंड एन) द्वीप समूह के पूर्व मुख्य सचिव, जितेंद्र नारायण...

गांधी की दांडी यात्रा-10: यात्रा का अंतिम चरण

गांधी जी ने अपने जीवनकाल में जो भी आंदोलन चलाया, उसे एक योजनाबद्ध रूप से, पूरी तैयारी के बाद ही शुरू किया और उसे जनता के बीच लेकर गए। वे अपने साध्य और साधन, दोनों के ही प्रति स्पष्ट...

जन (स्त्री), जीवन, आज़ादी: ईरान में स्कूली छात्राओं ने संभाला विरोध मोर्चा, 150 से अधिक लोगों की मौत

‘जन (स्त्री) ज़िंदगी आज़ादी’ (Women, Life, Freedom) के नारे के साथ स्कूली किशोरियां आंदोलन का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। 22 वर्षीय कुर्दिश महिला महसा अमीनी की कस्टोडियल हत्या के बाद विगत 21 दिनों से ईरान में ज़ारी विरोध-प्रदर्शन का मोर्चा स्कूली...

मुजफ्फरनगर कांड की बरसी: 28 साल बाद भी नसीब नहीं हुआ उत्तराखण्डियों को न्याय 

दशकों के जनसंघर्षों के बाद भारतीय गणतंत्र के 27वें राज्य के रूप में अस्तित्व में आने वाला उत्तराखण्ड राज्य शीघ्र ही अपने जीवनकाल के 20वें वर्ष में प्रवेश करने जा रहा है। इन 22 वर्षों में राजनीतिक नेताओं के...

ऐपवा ने दलित-महिला उत्पीड़न के खिलाफ चलाया प्रदेश व्यापी अभियान और भगत सिंह जयंती पर भी लखनऊ में हुआ कार्यक्रम

लखनऊ। योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल में उत्तर प्रदेश में लगातार महिला उत्पीड़न, दलित उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं के ख़िलाफ़ अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन और इंकालबी नौजवान सभा ने 24 से 30 सितंबर तक साप्ताहिक विरोध प्रदर्शन का...

प्रधानमंत्री महिलाओं का सम्मान करने को कहते हैं और भाजपाई उनकी सुनते ही नहीं! 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 2015 में 22 जनवरी को दिया गया ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा अब सात साल पुराना हो चुका है। उनकी सरकार ने इस नारे को महज प्रोपोगैंडा के लिए न इस्तेमाल किया होता और...

शैक्षणिक कट्टरता ने छीना मुस्लिम महिलाओं से शिक्षा का अधिकार: हिजाब प्रकरण पर पीयूसीएल

इस बात में कोई शक़-ओ-शुबह नहीं है कि धार्मिक कट्टरता समाज को प्रतिगामी, रुढ़िवादी और संकीर्ण बनाती है। और इस बात में भी दो राय नहीं है कि समाज को प्रगतिशील, परिवर्तनकामी और उदार बनाना है तो सबको शिक्षित...

अब क्या संविधान नहीं, मनुस्मृति के रास्ते चलेगा देश?

भारत में जिस राजनैतिक व्यवस्था को हमने चुना है उसमें विधायिका कानून बनाती है, कार्यपालिका उन कानूनों के अनुरूप देश की शासन-व्यवस्था का संचालन करती है और न्यायपालिका यह सुनिश्चित करती है कि देश का शासन संविधान के मूल्यों...

पीएम के संसदीय क्षेत्र में महिलाएं उतरीं सड़क पर, कहा- नहीं पहुंचा किसी भी सरकारी योजना का लाभ

वाराणसी। शास्त्री घाट कचहरी पर गरीब बस्तियों की कामगार महिलाओं ने प्रधानमंत्री से अपने मन की बात कहने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया। यह आयोजन अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन की ओर से किया गया था। महिलाओं...

ग्राउंड रिपोर्ट: हेलंग बन गया उत्तराखंड के अस्मिता का सवाल

उत्तराखंड के चमोली जिले के सुदूरवर्ती गांव हेलंग में महिलाओं से घास छीनने की घटना को करीब एक महीना गुजरने को है। इस दौरान पूरे उत्तराखंड की हुई गतिविधियों पर नजर डालें तो साफ नजर आ रहा है कि...

Latest News

मटिया ट्रांजिट कैंप: असम में खुला भारत का सबसे बड़ा ‘डिटेंशन सेंटर’

कम से कम 68 ‘विदेशी नागरिकों’ के पहले बैच  को 27 जनवरी को असम के गोवालपाड़ा में एक नवनिर्मित ‘डिटेंशन...