Saturday, October 16, 2021

Add News

संस्कृति-समाज

अंतरराष्ट्रीय जनसंख्या दिवस: महिलाओं की निर्णायक स्थिति ही रोकेगी बढ़ती आबादी

दुनिया की आबादी 5 अरब तक पहुंचने के बाद जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर विश्व का ध्यान खींचने के ध्येय से यूनाइटेड नेशन्स डेवलपमेंट प्रोग्राम की प्रशासनिक समिति ने 11 जुलाई 1989 को पहली बार विश्व जनसंख्या दिवस का...

एक महायात्री की अपनी धरोहर से मुलाकात

यूं तो पहाड़ में ही पैदा हुआ, पहाड़ से बाहर रहने की अवधि को, पहाड़ में रहने की अवधि ने पीछे छोड़ दिया है और पहाड़ में ही राजनीतिक-सामाजिक सक्रियता भी है। इसी सक्रियता में खूब पहाड़ चढ़ना-उतरना भी...

गांधी और आंबेडकर: सत्य का पाठ बनाम वास्तविक हकीकत

इसी प्रकार, डा. शर्मा आम्बेडकर के बारे में भूमिका में संक्षेप में लिखते हैं — वे अपने समय के सबसे सुपठित व्यक्तियों में एक थे जिन्होंने संस्कृत का धार्मिक, पौराणिक और वेद संबंधी सारा वांगमय अनुवाद में पढ़ कर अनेक मौलिक स्थापनाएँ...

खतरे में हैं भारत के बड़े शहर

नई दिल्ली। एक तरफ देश के बड़े शहर अब भी प्रदूषित हवा में सांस लेने को मजबूर हैं वहीं दूसरी तरफ ग्रीनपीस द्वारा जारी नाइट्रोजन डायआक्सायड (NO2) के सैटलायट डाटा के विश्लेषण में यह सामने आया है कि ज्यादा घनत्व वाले वाहन...

विमर्शमूलक विखंडन और कोरी उकसावेबाजी में बहुत महीन होती है विभाजन की रेखा

अरुंधति रॉय की किताब 'एक था डाक्टर और एक था संत' लगभग एक सांस में ही पढ़ गया । अरुंधति की गांधी को कठघरे में खड़ा कर उन पर बरसाई गई धाराप्रवाह, एक के बाद एक जोरदार दलीलों की विचारोत्तेजना अपने घेरे...

भारत की जीत पर नहीं, उसकी हार पर भी खुश थे रामबुझावन

बांग्लादेश को 28 रनों से हराकर भारत आईसीसी वर्ल्ड कप क्रिकेट के सेमीफाइनल में पहुंच चुका है। शायद अब यह कहना मुफीद हो कि 8 मैचों में भारत की इस छठी जीत पर कल मैं खुश भी हुआ और...

भारतीय समाज में जारी सतत हिंसा अब बन गयी है सभ्यता का हिस्सा

"मैं राइटर बनना चाहता था....और साइंटिस्ट भी... फिर सोचा कि शायद साइंस का राइटर बन जाऊंगा। कुछ भी न हुआ साला! क्योंकि पैदा जहां हुआ वहां पैदा होना ही एक भयानक एक्सीडेंट जैसा था।"ये 'आर्टिकल 15' के एक अहम...

समुदायों के बीच नफरत की खाईं को और गहरा करने में जुट गए हैं मीडिया और सत्ता

“मेरठ में हिन्दू आबादी पलायन कर रही है। सवा सौ घरों पर ‘घर बिकाऊ है’ चस्पा है। हिन्दू लड़कियों से छेड़छाड़ हो रही है। मंदिर पर पत्थर फेंके जा रहे हैं।” ये सूचनाएं ख़बर के तौर पर बेचैन करने वाली हैं। मगर,...

फासिस्ट सरकार के खिलाफ बने राष्ट्रीय मंच: प्रो. मुरली मनोहर प्रसाद सिंह

प्रोफेसर मुरली मनोहर प्रसाद सिंह बहुआयामी प्रतिभा के धनी हैं। प्रो. सिंह हिंदी के उन आलोचकों में से हैं जिन्होंने मध्यकालीन भक्ति कविता से लेकर आधुनिक साहित्य का गहन अध्ययन किया है। हालांकि उनके सक्रिय जीवन के बीस वर्ष...

महिलाओं के बारे में क्या सोचता है आरएसएस?

हिंदू संस्कृति स्त्री के किस रूप को गौरवान्वित करती है, किस रूप को निकृष्ट ठहराती है, किन स्त्रियों को महान और आदर्श स्त्रियों के रूप में पेश करती है, किन्हें कुलटा और राक्षसी ठहराती है, स्त्रियों को आदर्श या...
- Advertisement -spot_img

Latest News

टेनी की बर्खास्तगी: छत्तीसगढ़ में ग्रामीणों ने केंद्रीय मंत्रियों का पुतला फूंका, यूपी में जगह-जगह नजरबंदी

कांकेर/वाराणसी। दशहरा के अवसर पर जहां पूरे देश में रावण का पुतला दहन कर विजय दशमी पर्व मनाया गया।...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.