32.1 C
Delhi
Saturday, September 25, 2021

Add News

संस्कृति-समाज

अब ब्रह्मा ही बचा सकते हैं बीजेपी को!

क्या कोई बताएगा कि आदमज़ात के ब्रहमा के मुंह-भुजा-पेट-पैर से पैदा होते-होते नौबत औरत की योनि तक कैसे पहुंच गई? चलो स्त्री योनि से संतान उत्पत्ति भी ठीक। ये माहवारी का चक्कर क्यों डाला! क्यों पुरुष पर बेलगाम वीर्य...

धर्म बनाम लोकाचार: “बुनियादी वैचारिकी पर टिके रहकर सामाजिक रिश्तों का निर्वहन ही एकमात्र रास्ता”

मुझे लगता है, इस विषय पर एक सामूहिक और सही समझ जरूरी है। और वो चर्चा व बहस से ही उभरेगी! अतीत के सबक और अनुभव की रोशनी में हम एक सही बोध विकसित कर सकते हैं। इस बारे...

पंडों के चंगुल में सबरीमाला के ‘‘वयस्क’’ अयप्पा

तर्क की रौशनी में जिन्होंने भगवान और उसके चमत्कारों की सच्चाई जान ली है उन पुरुष-महिलाओं को मंदिर में जाने  न जाने से लेना-देना क्या? पर जो तर्क पर विश्वास की लाठी पटकने में यक़ीन रखते हैं और सोचते हैं...

रावण का पुतला जलाने को लेकर बवाल! छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में मुश्किल में पड़ा दशहरा

रायपुर। छत्तीसगढ़ में रावण दहन को लेकर बवाल खड़ा हो गया है। यहां के आदिवासियों ने रावण के पुतले के दहन पर रोक लगाने के लिए प्रशासन से गुहार लगाई है। प्रदेश के महासमुंद, रायगढ़, राजनंदगांव, गरियाबंद, कवर्धा आदि...

“गुफ्तगू” के सफर का नया पड़ाव, 300वें एपिसोड में आज मौजूद होंगे एक्टर नसीरुद्दीन शाह

नई दिल्ली। राज्यसभा टीवी पर प्रसारित होने वाले साप्ताहिक कार्यक्रम “गुफ्तगू” ने दर्शकों के दिलो-दिमाग पर न केवल अपनी अलग छाप छोड़ी है बल्कि भारतीय टेलीविजन के इतिहास में उसने अपना अलग स्थान बना लिया है।  सिनेमा, गीत और संगीत...

#MeToo अभियान के फलक को करना होगा व्यापक

हॉलीवुड के बड़े निर्माताओं में शामिल हार्वी वेंस्टीन पर कई महिलाओं द्वारा यौन उत्पीड़न और बलात्कार का आरोप लगाए जाने के  बाद अक्तूबर 2017 में शुरू हुआ #MeToo अभियान अब भारत में पहुंच गया है। इसके माध्यम से महिलाएं...

शीरोज कैफे पर सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत,एसिड हमला पीड़ितों को दिया 9 महीने का समय; पेश है पीड़ितों की पूरी दास्तान

नई दिल्ली। एसिड हमला पीड़ितों को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गई है। लखनऊ में शीरोज कैफे हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 9 महीने का वक्त दिया है। इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट को मामले को सुलझाने को कहा...

मनुष्यता के विध्वंस की शब्दावली है कामर्शियल और प्रोफेशनल!

भूमंडलीकरण का अर्थ है मनुष्य का ‘वस्तुकरण’। मानव उत्क्रांति का सबसे विध्वंसक दौर है भूमंडलीकरण। अभी तक मनुष्य की लड़ाई थी ‘इंसान’ बनने की ‘इंसानियत’ को बढ़ाने की यानी मनुष्य अपनी ‘पशुता’ से संघर्ष करता रहा है और जीतता...

नागरिकता के न्यूनतम अधिकारों से महरूम दर-बदर जिंदगियों का सच

गुजरात से मार-मार कर खदेड़े जा रहे बिहारियों और पुरबियों का कोई नहीं है। वह बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश भी नहीं, जहां से निकल कर भूख, बेगारी और अपमान की आग में झुलसते हुए ये लोग दुनिया भर में...

मंटो आज के हिंदुस्तान के बारे में क्या सोचते

अभिनेत्री और निर्देशक नंदिता दास की फ़िल्म ‘मंटो’ (2018, रंगीन, 112 मिनट) को देखते हुए कुछ सवाल दिमाग़ में कौंधने लगते हैं। यह फ़िल्म हिंदुस्तान और पाकिस्तान के एक अत्यंत महत्वपूर्ण उर्दू लेखक सादत हसन मंटो (1912-1955) के जीवन...
- Advertisement -spot_img

Latest News

लगातार भूलों के बाद भी नेहरू-गांधी परिवार पर टिकी कांग्रेस की उम्मीद

कांग्रेस शासित प्रदेशों में से मध्यप्रदेश में पहले ही कांग्रेस ने अपनी अंतर्कलह के कारण बहुत कठिनाई से अर्जित...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.