Subscribe for notification

बीच बहस

राजा ने एक देश को कैसे किया तबाह

एक राजा था। प्रजा उसे आराध्य सा पूजती थी। प्रजा खुशहाल तथा धन-धान्य से संपन्न थी। राज्य के अधिकारी ईमानदार…

2 weeks ago

पंजाब ने तोड़ा कृषि अध्यादेशों का मोदी-त्रिशूल

कोरोनाकालीन राजनीति में सब कुछ बुरा हो रहा है, ऐसा नहीं है। गाहे-बगाहे ‘अंजाम ख़ुदा जाने’ की चेपी लगाए कुछ…

2 weeks ago

यौन उत्पीड़न के मामलों में जजों के लिए क्या संविधान से इतर है कोई व्यवस्था?

यौन शोषण के आरोप जब उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों या अधीनस्थ न्यायालय पर लगते हैं तो जांच की…

2 weeks ago

बंजर रेगिस्तान में वित्तमंत्री ने किया था हरियाली देखने का दावा: पी चिदंबरम

आखिरकार लगातार पिछले दो सालों यानी 2019-20 से ही सरकार की ओर से परोसी जा रही झूठी कहानी का भंडाफोड़…

2 weeks ago

गलत नीतियों से शीर्ष पर कोरोना और रसातल में अर्थव्यवस्था

आज दो खबरें सुबह-सुबह मिलीं। पहली खबर कोरोना आपदा से संबंधित और दूसरी, देश की आर्थिकी यानी इकोनॉमी से जुड़ी।…

2 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

मध्यम वर्गीय, शिक्षित, खाते-पीते लोगों और ख़ासकर सवर्णों के बीच कांग्रेस की चिर परिचित बीमारियां अरसे से आपसी चर्चा का…

2 weeks ago

जस्टिस अरुण मिश्रा! न्यायाधीश सरकार का लठैत नहीं होता

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष दुष्यंत दवे को जब जस्टिस अरुण मिश्रा के फेयरवेल में नहीं बोलने दिया गया…

2 weeks ago

स्कूल और छात्र के बीच महज मध्यस्थ नहीं है अध्यापक

महामारी ने हमारी सामूहिक सोच को अव्यवस्थित कर दिया है। और यह मान लिया गया है कि दुनिया बिखर चुकी…

2 weeks ago

संवैधानिक पुनर्समीक्षा की मांग करते हैं जस्टिस अरुण मिश्रा के फैसले

उच्चतम न्यायालय ने 2012 में कहा था कि एक जज को सीजर की पत्नी की तरह संदेह से ऊपर होना…

2 weeks ago

डॉ. कफील के पास फासिस्ट ताकतों के खिलाफ योद्धा बनने का मौका!

सात महीने तक जेल में अवैध रूप से रखे जाने के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश पर डॉ. कफील…

2 weeks ago