Friday, July 1, 2022

ambedkar

राष्ट्रपति के गृहनगर की ट्रेन यात्रा के बहाने भाजपा का दलित कार्ड

राजनीतिक हलकों में माना जा रहा है कि यूपी के विधानसभा चुनाव से पहले दलित वोटों को साधने के लिए भारतीय जनता पार्टी अब अंबेडकर के नाम पर स्मारक स्थल बना रही है और राजधानी लखनऊ में राष्ट्रपति रामनाथ...

चंद नेताओं को सामने कर पूरे दलित समाज का हाशियाकरण बीजेपी की रणनीति का हिस्सा

अहमदाबाद के नज़दीक एक गाँव में एक दलित युवक ने मूंछें रख लीं। उसकी जम कर पिटाई की गई और उसकी मूंछें साफ़ कर दी गईं। कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले के गोनी बीडू पुलिस थाना क्षेत्र में एक दलित...

जमालपुर के विकास की कहानी 7 साल के ‘मोदी विकास’ पर तमाचा है

मैं विकास की कहानी लिखने को मजबूर हूँ।... विकास इन दिनों हरियाणा के भिवानी ज़िले में जमालपुर गाँव में रह रहे हैं। लॉकडाउन से पहले वह दिल्ली में रहते थे।  कृपया सरसरी तौर पर कहानी को न पढ़ें। यह सच्ची घटना...

बुद्ध पूर्णिमा पर विशेष: बुद्ध धम्म और भारत में प्रतिरोध की बहुजन-श्रमण प्रगतिशील परंपरा

मार्क्स ने कहा था "अब तक विद्यमान सभी समाजों का लिखित इतिहास वर्ग संघर्ष का इतिहास है।" यह वर्ग-संघर्ष विचारों के संघर्ष के रूप में भी मुखर रूप से सामने आता है। भारत में वर्ग-संघर्ष ने खुद को वर्ण-संघर्ष...

यूपी पंचायत चुनाव: नहीं मिली महिलाओं को स्वतंत्र जमीन

कल 14 अप्रैल को भारत एक कृतज्ञ राष्ट्र के तौर पर अपने संविधान निर्माता डॉक्टर भीम राव आम्बेडकर को उनकी 130वीं जयंती पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहा था। देश के किसान कल दिल्ली की सीमा पर आम्बेडकर जयंती...

जयंती पर विशेष: अंबेडकर ने संविधान सभा में ही जाहिर कर दी थी मौजूदा खतरों की आशंका

संविधान सभा के लिए दो बार चुने गए थे बाबा साहब आजादी के लिए हुए समझौते और तिथि तय हो जाने के बीच ही संविधान सभा के लिए चुनाव हुए थे। जुलाई 1946 में करीब 10 लाख पर एक के...

वैशाखी और खालसा पंथ की स्थापना के मौके पर दिल्ली की सीमाओं पर होंगे तरह-तरह के कार्यक्रम

नई दिल्ली। सयुंक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर देशभर के किसानों के धरनास्थलों पर 14 अप्रैल को अम्बेडकर जयंती के अवसर पर संविधान बचाओ दिवस और किसान बहुजन एकता दिवस मनाया जाएगा। इस दिन देशभर के दलितों आदिवासियों व...

संसद मार्च से पहले मोर्चे ने किया कार्यक्रमों की नई फेहरिस्त का ऐलान

संयुक्त किसान मोर्चा ने कार्यक्रमों की नई घोषणा कर दी है। इसके तहत 10 अप्रैल को केएमपी हाईवे जाम करने के साथ ही 13 अप्रैल को जलियांवाला बाग की बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने की योजना है। साथ...

जन्मदिन पर विशेष: कांशीराम ने दिया बहुजन राजनीति को आसमानी फलक

कांशीराम (15 मार्च, 1934 से 9 अक्तूबर 2006) संघर्षों के माध्यम से सामाजिक संगठन खड़ा करने की जीती जागती मिसाल हैं। भारतीय इतिहास में उनका अलग स्थान है, जिन्होंने अंबेडकर, फुले, शाहू जी, गाडगे, पेरियार जैसे दर्जनों विचारकों व...

विचारधारा को पैजामे का नाड़ा समझती है आप

विचारधारा अब दिल्ली के बजट में एक मद भर रह गई है। आप ब्रांड देशभक्ति = 500 तिरंगे +भगत सिंह+ अंबेडकर+ योग+ एक सैनिक स्कूल + एक मिलिट्री अकादमी+ बुजुर्गों के लिए वीएचपी के निर्देशन में अयोध्या में बन...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हिन्दुत्व के सबसे सटीक व्याख्याकार निकले एकनाथ शिंदे 

कई बार ढेर सारी शास्त्रीय कोशिशें, कई ग्रन्थ, अनेक परिभाषाएं और उनकी अनेकानेक व्याख्यायें भी साफ़ साफ़ नहीं समझा...
- Advertisement -spot_img