Friday, July 1, 2022

mob

पालघर के बारे में मैं नहीं चुप था, सांप्रदायिकों का गिरोह कुछ ज़्यादा सक्रिय था

मुंबई से 125 किमी दूर पालघर में एक भयानक घटना हुई है। गढ़चिंचले गांव के पास हत्यारी भीड़ ने दो साधुओं और एक कार चालक को कार से खींच कर मार डाला। इनमें से एक 70 वर्षीय महाराज कल्पवृक्षगिरी...

पालघर लिचिंग और वो राजनीति जो इंसानों को हत्यारा बनाती है या कीड़े-मकोड़े

पालघर में जिन तीन लोगों को उनकी गाड़ी से उतारकर मार दिया गया, उनमें दो साधु थे जो किसी अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए निकले थे। पुलिस मौक़े पर मौजूद थी पर भीड़ ने उसे बेबस कर दिया...

साप्ताहिकी: ऐतिहासिक संदर्भों में लिंचिंग

४५८.क्व नूनं कद्वो अर्थं गन्ता दिवो न पृथिव्याः । क्व वो गावो न रण्यन्ति ॥२॥ ऋग्वेद संहिता, प्रथम मंडल सूक्त ३८ हे मरुतो आप कहां हैं? किस उद्देश्य से आप द्युलोक मे गमन करते हैं ? पृथ्वी में क्यों नही घूमते? आपकी...

माहेश्वरी का मत: भागवत जी,शब्दों की बाजीगरी से नहीं धुल सकता संघ के दामन पर लगा बर्बर हत्याओं का दाग!

मोहन भागवत शब्दों की बाजीगरी से जीवन के सच को अपसारित करना चाहते हैं । वे कहते हैं लिंचिंग एक विदेशी अवधारणा है, इसे भारत पर लागू नहीं करना चाहिए। भारत में हो रही भीड़ की हत्याओं को लिंचिंग नहीं कहा जाना...

गांधी को ठेंगा दिखा रहा मॉब लिंचिंग के खिलाफ पीएम को पत्र लिखने वाली शख्सियतों पर देशद्रोह का मुकदमा

गजब खेल चल रहा है देश में। एक ओर देश गांधी जी की 150वीं जयंती मनाकर अहिंसा का संदेश दे रहा है वहीं दूसरी ओर जो लोग अहिंसा की पैरवी कर हिंसा के खिलाफ प्रधानमंत्री को सचेत कर रहे रहे हैं उनके...
- Advertisement -spot_img

Latest News

बर्बरता की गला काट होड़

राजस्थान के उदयपुर में एक दर्जी कन्हैयालाल की दो उन्मादियों द्वारा अत्यंत बर्बरता के साथ की गयी ह्त्या ने...
- Advertisement -spot_img