Wednesday, December 7, 2022

bsp

केरल: रिश्वत मामले में कोर्ट के आदेश से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के ख़िलाफ़ केस दर्ज

केरल पुलिस ने मंजेश्वरम सीट से सुरेंद्रन के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले माकपा उम्मीदवार वी वी रामेसन द्वारा दायर एक याचिका पर एक मजिस्ट्रेट अदालत के निर्देशों के तहत प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के. सुरेंद्रन और सीके जानू के ख़िलाफ़...

हवाला के पैसे से बीजेपी ने लड़ा केरल में चुनाव!

केरल में भाजपा का खाता भी नहीं खुला और पार्टी के अस्तित्व पर ही गंभीर प्रश्नचिन्ह लगता जा रहा है। एक ओर राजमार्ग डकैती के एक मामले की कथित हवाला केस के रूप में हो रही जांच के साथ कई...

मायावती की बहुजन वैचारिकी: उत्थान से अवसान तक

मायावती ने अपनी चिरपरिचित शैली में बसपा के दो कद्दावर नेताओं को एक बार फिर बाहर का रास्ता दिखा दिया है। पार्टी विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा और पूर्व पार्टी अध्यक्ष राम अचल राजभर, दोनों को 3 जून...

सीएए विरोधी आंदोलन में सपा की असलियत आयी सामने: शाहनवाज आलम

मेरठ। अल्पसंख्यक कांग्रेस पश्चिमी ज़ोन के जिला, शहर और प्रदेशपदाधिकारियों की बैठक आज मेरठ के चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स के हाल में हुई। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव और उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज़ुबौर खान और रोहित चौधरी...

टोपी का रंग और उसकी राजनीति

'विधान मंडल पहनावे अथवा भाषाओं को परिभाषित, निर्देशित अथवा  उपहासित करने का सभाकक्ष नहीं है।’ सत्तर के दशक की बात है। उत्तर प्रदेश विधानसभा में एक बड़े नेता नवागन्तुक सदस्यों के बोलने-बैठने के आचरण के विषय में भाषण कर...

महाराष्ट्र में बैलेट पेपर से चुनाव कराने की कवायद शुरू

17 फरवरी को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) पर अंगुली उठाने का एक चक्र पूरा हो गया। भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी से शुरू हुआ ये सिलसिला, कांग्रेस, बसपा व तमाम दूसरे दलों से होते हुए भाजपा तक वापस...

मायावती के जन्मदिन के बहाने: कहां भटक गई बहुजनों की लड़ाई?

15 को दलित आन्दोलन की बड़ी नेता पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का जन्मदिन होता है। आज 2021 में अपनी आयु के 64 वर्षों को पूर्ण कर लेंगी। इस दौरान जैसा कि हम सब जानते हैं उन्होनें राजनैतिक रूप से कई...

महंगा पड़ गया मायावती के लिए बीजेपी के समर्थन का बयान

बसपा सुप्रीमो मायावती भाजपा को खुला समर्थन देने की घोषणा एक हफ्ते तक भी नहीं बरकरार रह सकीं और मुसलमानों के आक्रोश से घबराकर उनको कहना पड़ा कि पार्टी कभी भी भाजपा के साथ गठबंधन नहीं करेगी। राज्यसभा चुनाव...

पाटलिपुत्र की जंग: चुनावी राजनीति से अदृश्य होते दलित और दलित मुद्दे!

वंचित तबक़ों के लिए आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी बाबा साहेब आंबेडकर का सिद्धांत रहा है। मगर, वे सत्ता में हिस्सेदारी की बात करते थे। डॉ. आंबेडकर की इस बात से सीख लेते हुए दलित नेतृत्व और कार्यकर्ताओं ने अपनी...

कांशीराम स्मरणः खवासपुर के फकीर का राजनीतिक सफर और आज की बहुजन राजनीति!

हिंदी-भाषी क्षेत्र में बहुजन-राजनीति के नायक और बेमिसाल संगठक कांशीराम जी का आज परिनिर्वाण दिवस है। सन् 2006 में आज ही के दिन उन्होंने दिल्ली में अंतिम सांस ली। एक संगठक और राजनीतिज्ञ के रूप में कांशीराम जी को...
- Advertisement -spot_img

Latest News

क्यों ज़रूरी है शाहीन बाग़ पर लिखी इस किताब को पढ़ना?

पत्रकार व लेखक भाषा सिंह की किताब ‘शाहीन बाग़: लोकतंत्र की नई करवट’, को पढ़ते हुए मेरे ज़हन में...
- Advertisement -spot_img