Wednesday, December 8, 2021

Add News

चरण सिंह

डॉ.लोहिया के ‘गैर कांग्रेसवाद’ के नारे पर खेल रहे हैं पीएम मोदी

आज जिस 'कांग्रेस मुक्त भारत' नारे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खेल रहे हैं। असल में यह डॉ. राम मनोहर लोहिया का 'गैर कांग्रेसवाद' का नारा था। दरअसल आजादी के बाद कांग्रेस की गलत नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले...

अमरुल्लाह सालेह ने तालिबानी हुकूमत के खिलाफ ठोकी ताल

नई दिल्ली। भले ही अफगानिस्तान को अमेरिका बीच अधर में छोड़ गया हो। भले ही चीन, रूस और पाकिस्तान तालिबान के साथ खड़े दिखाई दे रहे हों, भले ही दुनिया के शासक अफगानिस्तान में तालिबानियों की दरिंदगी को अनदेखा...

प्रधानमंत्री जी! भूखा और तनावग्रस्त आदमी वैक्सीन लगने से बाहुबली कैसे हो जाएगा?

संसद के मानसून सत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने स्वभाव के अनुसार फिर जमीनी हकीकत से दूर जाकर बोले। प्रधानमंत्री ने बड़े गर्व से कहा कि वैक्सीन लगवाकर 40 करोड़ लोग हुए बाहुबली बन गये हैं। यदि कागजी आंकड़े...

जब लोहिया की आवाज ने ले लिया था गोवा क्रांति का रूप

यह आज के राजनेताओं, पूंजपीतियों और ब्यूरोक्रेट्स का एक रणनीति के तहत अपनी सुरक्षा के लिए बनाया गया माहौल ही है कि देश का युवा अपना हक मांगने के बजाय मौज-मस्ती का रास्ता अपनाना ज्यादा पसंद कर रहा है।...

मौत की प्रयोगशाला बनकर रह गया है कोरोना का इलाज

आगरा (उत्तर प्रदेश) पारस अस्पताल में कोराना के गंभीर मरीजों को मारने के लिए जो माकड्रिल किया गया उससे स्पष्ट हो चुका है कि कोरोना महामारी को डॉक्टरों ने एक प्रयोगशाला के रूप में लिया। कोरोना मरीजों के साथ...

निजीकरण का दुष्प्रभाव है अडानी ग्रुप का लखनऊ एयरपोर्ट पर चार्ज बढ़ाना

मोदी सरकार के हर निर्णय में जनता को ठग कर पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की नीयत छिपी होती है। मोदी सरकार की पहली प्राथमिकता फकीर प्रधानमंत्री के सबसे घनिष्ठ अमीर मित्र अडानी और अंबानी को लाभ पहुंचाना होता है।...

देश को चरण सिंह जैसे किसान नेता की जरूरत

(जन्म- 23 दिसम्बर, 1902 - मृत्यु- 29 मई, 1987)   आज की तारीख में जिस तरह से मोदी सरकार ने पूंजीपतियों को खेती कब्जाने के लिए किसान ही नहीं बल्कि पूरी जनता की बर्बादी के लिए नये किसान कानून बनाये...

जनता मूर्ख बन रही है और मोदी बना रहे हैं!

वैसे तो हर सरकार ने किसी न किसी रूप में जनता को ठगा ही है, पर मोदी सरकार ने ऐसा बेवकूफ बनाया कि कहीं न छोड़ा। उनको भी जिनके बलबूते पर सत्ता का मजा लूटते रहे। क्या रोजी-रोटी स्वयंभू...

निर्लज्जता की पराकाष्ठा है प्रधानमंत्री का संक्रमित मौतों की बढ़ती संख्या की अनदेखी करना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मादी का एक सूत्रीय एजेंडा है कि अपनी बात कह दो बस। उन्हें किसी की नहीं सुननी है। बात भी उन्हें वही कहनी है जो वह कहना चाहते हैं। परिस्थतियों, समस्याओं से उन्हें कोई लेना देना नहीं।...

जलती चिताओं पर ‘सकारात्मकता’ का पाठ पढ़ाने वाले से मुक्ति चाहता है देश

क्या कोई जिम्मेदार आदमी इतना संवेदनहीन और क्रूर हो सकता है कि कोरोना महामारी में आक्सीजन की कमी से मरने वाले लोगों को 'मुक्ति’ मिलने की बात कहे। आरएसएस के कर्णधार तो अपने इस संगठन को सबसे बड़ा राष्ट्रवादी...

About Me

32 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

सरकार की तरफ से मिले मसौदा प्रस्ताव के कुछ बिंदुओं पर किसान मोर्चा मांगेगा स्पष्टीकरण

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा को सरकार की तरफ से एक लिखित मसौदा प्रस्ताव मिला है जिस पर वह...