Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

पुल ही नहीं बिहार की शासन व्यवस्था ढह रही है: दीपंकर भट्टाचार्य

पटना। भाकपा-माले महासचिव का. दीपंकर भट्टाचार्य के नेतृत्व में पार्टी की एक उच्चस्तरीय टीम आज दरभंगा पहुंची और वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी से मिलकर उनके [more…]

Estimated read time 1 min read
आंदोलन

लेखिका अरुंधति रॉय और डॉ. शौकत हुसैन के खिलाफ यूएपीए के तहत दर्ज मुकदमे को रद्द करने की मांग को लेकर माले का देशव्यापी प्रदर्शन

नई दिल्ली। प्रख्यात लेखिका अरुंधति रॉय और कश्मीर यूनिवर्सिटी के पूर्व प्रो. डॉ. शौकत हुसैन के विरुद्ध यूएपीए के तहत मुकदमा चलाये जाने की अनुमति [more…]

Estimated read time 1 min read
बीच बहस

मुश्किल तो अपने समय के भगत सिंह के साथ खड़ा होना है: संदर्भ छत्तीसगढ़ में मारे गए 29 आदिवासी या गैर-आदिवासी

पहली बात कि भगत सिंह का मानना था कि ब्रिटिश साम्राज्य भारत के बहुसंख्यक लोगों के हितों के खिलाफ है। ध्यान रहे बहुसंख्यक न कि [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

सामंती ताकतों की साजिश का शिकार हुए हैं मनोज मंजिल

पटना/आरा। पूरे भारत में चुनाव से पहले तमाम पुराने केस, सीबीआई एवं ईडी आदि तमाम रास्तों के जरिए विपक्षी नेताओं को लगातार जेल का रास्ता [more…]

Estimated read time 0 min read
संस्कृति-समाज

धैर्य और साहस ही विजय बहादुर राय का धन था

आजमगढ़ के विजय बहादुर राय से मेरा परिचय उनकी पुत्री से विवाह के बाद हुआ। इस रिश्ते की जटिलता के भीतर और बाहर उनके साथ [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

‘अक्षत-भभूत नहीं, रोजी-रोटी और आवास चाहिए’ नारे के साथ खेग्रामस ने बिहार के सभी प्रखड़ों में किया प्रदर्शन

0 comments

पटना। अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मजदूर सभा (खेग्रामस) की ओर से ‘अक्षत-भभूत नहीं, रोज़ी-रोटी और आवास चाहिए’; ‘आजादी, लोकतंत्र और संविधान का सम्मान चाहिए’ नारे [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

राष्ट्रपति आदिवासी लेकिन लूटे जा रहे हैं आदिवासियों के जल, जंगल और जमीन: दीपंकर

झारखंड। बगोदर में आयोजित कॉमरेड महेंद्र सिंह के शहादत दिवस पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा [more…]

Estimated read time 2 min read
राजनीति

इंडिया गठबंधन के लिए अब ना-नुकुर करने की गुंजाइश नहीं रही 

नई दिल्ली। मोदी सरकार की चपलता, ढीठपना और विकास के दावों का ढोल अब पहले की तुलना में कई गुना बढ़ चुका है। 5 राज्यों [more…]

Estimated read time 1 min read
संस्कृति-समाज

मीना भाभी: तुमसा मिला न कोय!

बड़े शौक़ से सुन रहा था ज़माना हमीं सो गये दास्ताँ कहते-कहते… पिछले दिनों समकालीन जनमत में धारावाहिक रूप से प्रकाशित हुए मीना राय के [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

समकालीन जनमत की प्रबंध संपादक कॉ. मीना राय की अंतिम यात्रा में सैकड़ों लोग हुए शामिल

0 comments

प्रयागराज। समकालीन जनमत पत्रिका की प्रबंध संपादक, जन संस्कृति मंच उत्तर प्रदेश की वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता कॉ. मीना राय का आज प्रयागराज में अंतिम [more…]