Wednesday, January 26, 2022

Add News

land

उत्तराखंड में भूकानून बन गया है बड़ा चुनावी मुद्दा

सोशल मीडिया के चिराग से 'उत्तराखंड मांगे भूकानून' का जिन्न पता नहीं कब बाहर निकल आया और सबकी ज़ुबान पर छा गया। आने वाले विधानसभा चुनाव में भी राजनीतिक पार्टियों के लिए भूकानून एक ऐसा मुद्दा है जिस पर...

शहीदों के स्मारक के लिए दी जमीन लेकिन आज भूखों मरने की नौबत

जालियांवाला बाग (13 अप्रैल, 1919) से पहले का जालियांवाला बाग, यानी अंग्रेजी हुकूमत की क्रूरता का पहला गवाह बना था, झारखंड के खूंटी जिला अंतर्गत मुरहू प्रखंड का डोंबारी बुरू। जहां आज से ठीक 121 साल पहले 9 जनवरी,...

पंजाब में कौड़ियों के भाव पर कंपनियों को तीन सौ एकड़ ज़मीन की बंदरबाट

एक आधिकारिक जांच आयोग ने पाया है कि पंजाब सरकार ने शीर्ष बहुराष्ट्रीय कंपनियों भारती एंटरप्राइजेज और खाद्य क्षेत्र की दिग्गज डेल मोंटे पैसिफिक के स्वामित्व वाली एक फर्म को 300 एकड़ बेशकीमती जमीन बेहद ही कम कीमत पर...

दलितों की 21 बीघा जमीन रामायण ट्रस्ट को देना अवैध: रेवेन्यू कोर्ट, अयोध्या

अयोध्या में सहायक रिकॉर्ड अधिकारी (एआरओ) न्यायालय ने 22 अगस्त, 1996 को लगभग 21 बीघा (52,000 वर्ग मीटर) दलित भूमि को महर्षि रामायण विद्यापीठ ट्रस्ट (एमआरवीटी) को हस्तांतरित करने के सरकारी आदेश को अवैध  घोषित कर दिया है। अदालत...

राम मंदिर के चंदा चोरों को बचा रहे हैं मोदी और योगी: प्रियंका गांधी

आज प्रेस कांफ्रेंस करके कांग्रस महासचिव प्रियंका गांधी ने अयोध्या राम मंदिर चंदे की लूट में लगे भाजपा नेताओं को बचाने का आरोप प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी पर लगाया है। उन्होंने कहा है कि "राम मंदिर की ₹30,00,00,000 की...

अयोध्या में जमीन लूटने में पिल पड़े हैं सत्ता के दलाल और नौकरशाह

राम नाम की लूट है,लूट सके तो लूट, अंत काल पछतायेगा जब प्राण जायेंगे छूट। ऐसे में सत्ता के दलाल और नौकरशाह अयोध्या में जमीन लूटने में पिल पड़े हैं। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण...

बस्तर डायरी-1: बेचाघाट में भी आदिवासियों ने डाला पड़ाव, कहा-पुल और कैंप नहीं शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं दो

बस्तर। छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में आदिवासी न केवल अपने जल-जंगल-जमीन को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं, बल्कि वे अपने संवैधानिक अधिकारों की रक्षा के लिए होने वाली लड़ाइयों में भी आगे बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे...

महंगाई ने खड़ा कर दिया है किसानों को शहरी मजदूरों की कतार में

मुरैना जिले के बस्तौली गाँव के गयाराम सिंह धाकड़ को समझ ही नहीं आ रहा है कि सरसों के उम्मीद से कहीं ज्यादा अच्छे भाव मिलने के बाद भी उनका सारा बजट कैसे गड़बड़ा गया। खर्चे अभी भी पूरे...

झारखंड के जल, जंगल और जमीन आंदोलन के मॉडल थे फादर स्टेन

आज 8 अक्टूबर 2021 को झारखंड में रांची स्थित राजभवन झारखंड के समक्ष विभिन्न जनसंगठनों द्वारा फादर स्टेन स्वामी की प्रायोजित हत्या में शामिल दोषियों को सजा की मांग को लेकर धरना दिया गया। उक्त धरना कार्यक्रम "शहीद फादर...

भूमि, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, काले कानूनों की समाप्ति और राजनीतिक बंदियों की रिहाई पर एक दिवसीय सम्मेलन सम्पन्न

नई दिल्ली। तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी और एमएसपी पर कानून बनाने के लिए जारी किसान आंदोलन को विस्तार देने व प्रभावशाली बनाने के लिए कल दिल्ली के कान्स्टीट्यूशन क्लब में मजदूर किसान मंच की तरफ से ग्रामीण...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भारतीय गणतंत्र : कुछ खुले-अनखुले पन्ने

भारत को ब्रिटिश हुक्मरानी के आधिपत्य से 15 अगस्त 1947 को राजनीतिक स्वतन्त्रता प्राप्ति के 894 दिन बाद 26...
- Advertisement -spot_img