Wednesday, December 1, 2021

Add News

year

उपलब्धियों का एक साल: किसान आंदोलन बना राजनीतिक एजेंडे की धुरी

भारत की जनसंख्या 139 करोड़ है जिसने सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार साढ़े चौदह करोड़ परिवार किसान हैं, लेकिन किसानों के मुद्दे आजादी के 74 वर्ष बाद भी राजनीतिक एजेंडे का हिस्सा नहीं बने थे ।  26 नवंबर, 2020 से दिल्ली...

शताब्दी वर्ष पर विशेष: इतिहास की कब्र से उठ खड़े हुए चौरी चौरा विद्रोह के नायक

(चौरी चौरा विद्रोह स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास की कुछ सबसे ज्यादा चर्चित घटनाओं में से एक है। इस घटना ने न केवल आजादी की लड़ाई का रुख बदल दिया बल्कि उसके भविष्य का रास्ता भी तैयार करने का काम...

त्रासदियों के लिए याद किया जाएगा बीत रहा साल

बीता साल इतनी निराशा से भरा था कि किसी ने शायद ही उम्मीद की होगी कि वह जाते-जाते लोकतंत्र को जगा कर जाएगा। भारत की हालत यह है कि सरकार की सारी संस्थाएं सत्ताधारी पार्टी की शाखा में तब्दील...

फिर भूख से मर गई झारखण्ड की 5 वर्षीय बेटी

लातेहार जिला मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर मनिका प्रखण्ड अन्तर्गत डोंकी पंचायत, हेसातु गाँव के एक दलित परिवार की 5 वर्षीया बच्ची निमनी कुमारी की भूख से मौत हो गई है।  इस गाँव में करीब 35 भुईयाँ परिवार रहते...

एसबीआई ने भी दी चेतावनी, कहा-अगले वित्तीय वर्ष में जीडीपी वृद्धि दर घटकर हो सकती है 4.2 फीसद

नई दिल्ली। भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया यानी एसबीआई ने देश के जीडीपी वृद्धि दर के 4.2 तक गिरने की भविष्यवाणी की है। उसका कहना है कि ऐसा दूसरे तिमाही तक होने...
- Advertisement -spot_img

Latest News

ऐक्टू ने किया निर्माण मजदूरों के सवालों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपराज्यपाल के सामने प्रदर्शन

नई दिल्ली। ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (ऐक्टू) से सम्बद्ध बिल्डिंग वर्कर्स यूनियन ने निर्माण मजदूरों की...
- Advertisement -spot_img