Wednesday, October 27, 2021

Add News

middle

मध्यवर्गीय संघर्ष और विषमताओं की ताकत का आख्यान

गजानन माधव मुक्तिबोध उन गिने चुने कवियों में थे जिन्होंने विज्ञान और फैंटेसी के आधुनिक तथा कलात्मक बिंब और भाव कविता में लिए। उनकी एक कविता 'मुझे मालूम नहीं' में मनुष्य की उस असहायता का चित्रण है जिसमें वह...

जयंती पर विशेष: प्रेमचंद की दृष्टि में मध्यवर्ग और किसान

सामान्यत: यह माना जाता है कि मध्य वर्ग की किसी भी आंदोलन, क्रांति और विद्रोह में महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। मध्यवर्ग का एक हिस्सा शासन का पैरोकार और दूसरा हिस्सा आंदोलनों की आवश्यकता का हिमायती होता है। यह दूसरा...

बोकारो: 75 साल के बुजुर्ग ने पहले पत्नी की जान ली; फिर अपना गला काटा, अब आईसीयू में भर्ती

झारखंड के बोकारो के चीरा चास में अवस्थित वास्तु विहार फेज-1 में रहने वाले बीएसएल के अवकाश प्राप्त अधिकारी 75 वर्षीय अखिलेश्वर प्रसाद ने 10 जुलाई को पहले पत्नी मंजू प्रसाद (70 वर्ष) के हाथ की नस काटा, फिर...

‘सेव मिडिल क्लास’ कैंपेन और कोविड-19 क्राइसिस में ईएमआई वर्ग का स्यापा

भारत का नौकरीपेशा मध्यवर्ग दक्षिणपंथी कट्टरवाद का कोर-सपोर्टर रहा है। सरकार ने एक तरह से हिंदुत्व और राष्ट्रवाद की नाल साफ करने का जिम्मा इसी वर्ग के हवाले कर रखा था। सोशल मीडिया से लेकर कॉलोनियों तक इस वर्ग...

कोविड के भ्रामक आंकड़े, भारतीय मध्य-वर्ग और पत्रकारिता

दुनिया में जब लॉकडाउन की शुरुआत हुई तो नागरिकों के दमन की ख़बरें सबसे ज्यादा केन्या व अन्य अफ्रीकी देशों से आईं। उस समय ऐसा लगा था कि भारत का हाल बुरा अवश्य है लेकिन उन गरीब देशों की तुलना...

प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को लिखा एक और ख़त; मध्य वर्ग, छोटे व्यापारी, किसानों समेत तमाम तबकों के लिए दिए कई अहम सुझाव

दिल्ली/लखनऊ। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फिर पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने कहा है कि "कोरोना महामारी से पूरा जनजीवन प्रभावित है। हर वर्ग के ऊपर...

क्या मध्यम वर्ग ने सांप्रदायिकता को ही सर्वोच्च प्राथमिकता और रोज़गार समझ लिया है ?

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण एशिया की अर्थव्यवस्था सबसे अधिक प्रभावित होने जा रही है। यहां की जीडीपी शून्य हो सकती है। इसका मतलब है कि हर किसी को एक मुश्किल दौर के...

फूट गया मध्यवर्ग के सपनों का गुब्बारा

करोना काल में कुछ फुट नोट्स : देखिये एक बात स्पष्ट अब हमें बिना लाग-लपेट के कह देनी चाहिए। फ़ेसबुक से संबंध रखने वाले लोग मध्य वर्ग या निम्न मध्य वर्ग से ही आते हैं। और हम ही बकर...

वैश्विक महामारी, मानवीय त्रासदी और मौत का जश्न

ऐसे समय में जब विश्व समुदाय कोरोना वायरस ( कोविड-19) की महामारी का तेजी से शिकार बन रहा है, 6 अप्रैल (आज तक) तक 69 हजार 456 मौतों की पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन कर चुका है। 45,592 लोग गंभीर...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भाई जी का राष्ट्र निर्माण में रहा सार्थक हस्तक्षेप

आज जब भारत देश गांधी के रास्ते से पूरी तरह भटकता नज़र आ रहा है ऐसे कठिन दौर में...
- Advertisement -spot_img