Wednesday, October 27, 2021

Add News

trail

सभी परीक्षणों से गुजर चुकी ‘कोविशील्ड’ के बजाय ट्रायल वाली ‘कोवैक्सीन’ को सरकार क्यों दे रही है तरजीह?

भारत में आज विश्व का सबसे बड़ा ‘कोरोना टीकाकरण’ का अभियान शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान को हरी झंडी दिखाई। देश में अब तक कोरोना से एक लाख 52 हजार से ज्यादा लोगों की मौत...

‘कोवैक्सीन’ लेने वाले को ‘क्लीनिकल ट्रायल मोड’ का देना पड़ रहा है सहमति पत्र

नई दिल्ली। भारत ने आज देश में कोविड टीकाकरण की शुरुआत कर दी। इस काम को उसने सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया द्वारा विकसित की गयी कोवीशील्ड तथा बायोकेट द्वारा बनायी गयी कोवैक्सीन को हेल्थ से जुड़े वर्करों के टीकाकरण...

अमेरिका से ज्यादा कारगर और सस्ती है रूस की स्पुतनिक-5 वैक्सीन

अब जब पूरी दुनिया में कोरोना की दवाई को लेकर अलग-अलग दावे और शोध के नतीजे सामने आ रहे हैं ऐसे में खबर है कि रूस ने इस घातक वायरस के बचाव के लिए ‘स्पुतनिक-5’ नामक जो वैक्सीन तैयार...

छत्तीसगढ़: 3 साल से एक ही मामले में बगैर ट्रायल के 120 आदिवासी जेल में कैद

नई दिल्ली। सुकमा के घने जंगलों के बिल्कुल भीतर स्थित सुरक्षा बलों के एक कैंप से महज 200 मीटर की दूरी पर एक छोटा गांव स्थित है। नाम है बुरकापाल। यहां जाने पर गांव में या तो महिलाएं मिलती...

सुशांत मामले में मीडिया के रवैये से बॉम्बे हाईकोर्ट ख़फ़ा, सीबीआई ने बताया पूरी रिपोर्टिंग को मनगढ़ंत

इधर बॉम्बे हाईकोर्ट ने गुरुवार को कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में मीडिया से उम्मीद है कि वे रिपोर्ट करते वक्त संयम बरतेंगे ताकि जांच में बाधा न आए, उधर सुशांत सिंह राजपूत की मौत की...

पीएम केयर्स फंड से खरीदे गए वेंटिलेटर ट्रायल में फेल

नई दिल्ली। पीएम केयर्स फंडेड और देशी कंपनियों से खरीदे गए वेंटिलेटर स्वास्थ्य मंत्रालय की टेक्निकल कमेटी के क्लीनिकल मूल्यांकन में नाकाम हो गए हैं। यह बात एक आरटीआई के जरिये सामने आयी है। कंपनी ज्योति सीएनसी आटोमेशन और आंध्र...

कोविड-19 वैक्सीन के परीक्षण में लग सकता है लंबा वक्त

कोरोना से बचाव का सबसे कारगर उपाय वैक्सीन (टीकाकरण) से निकलेगा और तभी सामान्य जनजीवन दुनिया भर में बहाल होगा। सामान्य तौर पर किसी वैक्सीन को बनाने में 2-3 साल का वक़्त लगता है लेकिन वर्तमान आपात स्थिति के...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हाय रे, देश तुम कब सुधरोगे!

आज़ादी के 74 साल बाद भी अंग्रेजों द्वारा डाली गई फूट की राजनीति का बीज हमारे भीतर अंखुआता -अंकुरित...
- Advertisement -spot_img