Wednesday, October 27, 2021

Add News

racial

नॉर्थ ईस्ट डायरी: नस्लीय टिप्पणी घटना के बाद छात्रों ने पूछा-एनसीईआरटी में पूर्वोत्तर का इतिहास क्यों नहीं?

अरुणाचल प्रदेश के विधायक निनॉन्ग एरिंग पर कथित नस्लीय टिप्पणी के लिए पंजाब के एक यूट्यूबर को गिरफ्तार किए जाने के एक हफ्ते बाद पूर्वोत्तर के 30 से अधिक विश्वविद्यालय और छात्र संगठन एक 'ट्विटर स्टॉर्म' आयोजित करने के...

नस्लवादी विवादों के हत्थे चढ़ गयी ऑक्सफ़ोर्ड छात्र संघ की नवनिर्वाचित अध्यक्ष रश्मि की कुर्सी

हालाँकि ये खबर भारतीय अंग्रेजी समाचार पत्रों सहित पश्चिमी मीडिया में आज से तीन-चार दिन पहले से ही सुर्ख़ियों में थी, लेकिन हिंदी पट्टी में इस खबर को लेकर न तो किसी भी पत्र-पत्रिका में सुगबुगाहट हुई और न...

अमेरिकी चुनाव: कोविड पर बेडेन ने की ट्रम्प की घेरेबंदी! भ्रष्टाचार, हेल्थकेयर और नस्लवाद पर भी तीखी बहस

नई दिल्ली। 3 नवंबर को होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के लिए कल डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बेडेन और रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रंप तीसरी और आखिरी बार आमने-सामने हुए। बहस के दौरान ट्रंप ने बेडेन और उनके परिवार पर ढेर...

‘ब्लैक लाइव्स मैटर’: ऐतिहासिक संदर्भ में नस्लवाद और दासता के मायने

(वर्चस्ववाद की बुनियाद के मौलिक तत्वों में से एक है श्रेष्ठतावाद, जो यह दावा करता है कि वही श्रेष्ठ है क्योंकि दुनिया को सभ्य बनाने की जवाबदेही उसकी है। इसके बदले वह विश्व पर अपनी हुकूमत करता है। इसी...

ख़ास रिपोर्ट: पश्चिम में परवान पर है फेसबुक के खिलाफ़ ‘स्टॉप हेट फॉर प्रॉफिट’ कैंपेन

पिछले एक दशक से सोशल मीडिया का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल नस्लवाद, मनुवाद, सांप्रदायिक नफ़रत फैलाने के लिए किया गया है। राजनैतिक पार्टी या विचारधारा के लिहाज से देखें तो कट्टर दक्षिणपंथी पार्टियों और नस्लवादी दक्षिणपंथी विचारधारा ने सोशल मीडिया...

वर्णमानसिकता की वैधता के साये में रंगभेद

दारेन सैमी, (Darren Sammy) क्रिकेट प्रेमियों के लिए यह नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं है।  सेन्ट लुसिया, वेस्ट इंडीज के निवासी इस प्रख्यात आलराउंडर की ख्याति किसी लिजेंड से कम नहीं है। उन्होंने कई साल वेस्ट इंडीज टीम की...

कोविड-19 से निपटने में भारत की नाकामियां राजनीतिक से ज्यादा सामाजिक क्यों हैं?

पिछले दिनों पूरी दुनिया ने देखा। अमेरिका के बाद यूरोप ने भी नस्लभेद-रंगभेद के विरुद्ध झंडा उठा लिया। महामारी के दौर में ये दोनों महाद्वीप अंदर से बदलते-संवरते नजर आ रहे हैं। एक तरफ लोग ज़िंदगी बचाने की जंग...

रंगभेद के खिलाफ एशियाई मूल के लोगों ने भी संभाला मोर्चा, हजारों की तादाद में अम्सतरदम में हुआ जमावड़ा

अम्सतरदम।अम्सतरदम के नेल्सन मण्डेला पार्क में गत बुधवार (10 जून 2020) को हुए ब्लैक लाइव्स मैटर के विशाल विरोध-प्रदर्शन में लगभग  11000 लोग शामिल हुए। माना जा रहा है कि नीदरलैंड्स में नस्लवाद के ख़िलाफ़ होने वाला अब तक का...

अमेरिका के अफ्रीकी-अमेरिकी और मेक्सिकन की तर्ज़ पर भारत में हिंदू-मुस्लिम में भेद करने वाले खुद को राष्ट्रवादी कहते हैं: राहुल गांधी

(देश और दुनिया में तमाम क्षेत्रों की जानी-मानी शख्सियतों के साथ बातचीत की श्रृंखला में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज एंबेसडर निकोल बर्न्स से बात की। बर्न्स हार्वर्ड विश्वविद्यालय में डिप्लोमेसी एंड इंटरनेशनल रिलेशंस के प्रोफेसर...

हम खुद एक ऐसे बीमार समाज में रहते हैं, जिसमें भाईचारे और एकजुटता की भावनाओं के लिए कोई जगह नहीं है: अरुंधति

(विश्व प्रसिद्ध लेखिका अरुंधति रॉय ने दलित कैमरा पोर्टल को एक लंबा साक्षात्कार दिया है। इसमें उन्होंने अमेरिका और यूरोप में चल रहे नस्लभेद विरोधी आंदोलन से लेकर भारत में कोरोना की स्थित तक पर अपने विचार जाहिर किए...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सरदार उधम: आज देश को ‘राम मोहम्मद सिंह आज़ाद’ की ही जरूरत है

सरदार उधम अंत में एक सवाल उठाती है कि अंग्रेजों के शासन के दौरान भारत में लाखों लोग मारे...
- Advertisement -spot_img